Breaking News

बिग ब्रेकिंग: इंतजार खत्म,अब कभी भी जारी हो सकता है NEET UG Result 2021, सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसी को परिणाम घोषित करने की दी छूट,पूरी खबर @हिलवार्ता बड़ी खबर: उत्तराखंड निवासी राष्ट्रीय (महिला) बॉक्सिंग प्रशिक्षक भाष्कर भट्ट को वर्ष 2021 का द्रोणाचार्य अवार्ड मिला,बॉक्सिंग में उत्तराखंड के पहले अवार्डी बने भट्ट,खबर विस्तार से @हिलवार्ता विशेष खबर: अलमोड़ा निवासी अमेरीकी डिजाइन इंजीनियर का मिशन है हर साल गांव आकर पढ़ाना, और गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद देना,जानिए उनके बारे @हिलवार्ता उत्तराखंड : दो पर्यटक वाहनों की टक्कर में पांच की मौत पंद्रह घायल,दो अलग अलग घटनाओं में एक हप्ते के भीतर 10 बंगाली पर्यटकों की गई जान,खबर विस्तार से @हिलवार्ता उत्तराखंड: नियोजन समिति के चुनाव न कराए जाने पर प्रदेश के जिलापंचायत सदस्य नाराज, एक नवम्बर से काला फीता बांध करेंगे विरोध, और भी बहुत,पढिये@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी : इन दिनों एक युवाओं का संगठन चर्चाओं में है नाम है पहाड़ी आर्मी । पहाड़ी आर्मी हाथ मे तिरंगा लेकर कई जगह प्रदर्शन कर रही है आर्मी की टैग लाइन है….

” पर्वतीय अस्मिता,संस्कृति और संसाधनों के रक्षक ”

पहाड़ी आर्मी की बाकायदा ड्रेस है जिसमे सफेद टी शर्ट में पहाड़ी आर्मी लिखवाया गया है । पहाड़ी आर्मी के संयोजक हरीश रावत का कहना है कि पहाड़ी आर्मी एक राज्य एक राजधानी जोकि गैरसैण होनी चाहिए के लिए जनमत जुटा रहे हैं । आर्मी की मांग है कि उत्तराखंड पर्वतीय राज्य है राज्य में बड़ी संख्या में बाहरी राज्यों और पर्वतीय क्षेत्र से लोग मैदानी क्षेत्रों में पलायन कर रहे हैं मैदानी जनसंख्या का घनत्व बढ़ा है ऐसे में अगर आगामी परिसीमन लागू होता है तो पर्वतीय राज्य की परिकल्पना ही खत्म हो जाएगी अतः पहाड़ी आर्मी परिसीमन को स्थगित करने की मांग कर रही है ।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर : कपकोट की प्रेमा रावत का भारतीय सीनियर क्रिकेट टीम में चयन,ट्रायल में ऑलराउंडर परफॉर्मेंस रही वजह ,पूरी खबर@ हिलवार्ता

रानीखेत में प्रदर्शन करते पहाड़ी आर्मी के सदस्य 

आर्मी का मानना है कि राज्य के संसाधनों की लूट रुकनी चाहिए जिसके लिए संसाधनों का शोधपरक वितरण एवं समायोजन आवश्यक है जिसे लागू किया जाना चाहिए । इसके अलावा पहाड़ी आर्मी हिमांचल की तर्ज पर राज्य में शख्त भू कानून की मांग कर रही है । इसके अलावा पर्वतीय क्षेत्र में उगाए जाने वाले पारंपरिक 12 अनाजों का संरक्षण की गारंटी, और जैविक कृषि की अनिवार्य योजना लागू करवाना । सुवर बंदरों और गायों के लिए पंचायत स्तर पर बाड़े की व्यवस्था सहित राज्य की नौकरियों में 70 प्रतिशत मूल निवासियों के लिए रोजगार और परिवार के एक व्यक्ति की नौकरी की गारंटी या 25000 रुपया आर्थिक सहायता की मांग मुख्य है ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: नियोजन समिति के चुनाव न कराए जाने पर प्रदेश के जिलापंचायत सदस्य नाराज, एक नवम्बर से काला फीता बांध करेंगे विरोध, और भी बहुत,पढिये@हिलवार्ता

गठन के बाद से स्थायी राजधानी गैरसैण के लिए आर्मी देहरादून हल्द्वानी ऋषिकेश और रानीखेत में प्रदर्शन कर चुकी है । कल रानीखेत में प्रदर्शन के दौरान आर्मी के कार्यकर्ताओं ने सरकार का पुतला दहन किया और मांग की कि अविलम्ब स्थायी राजधानी की घोषणा की जाए ।
पहाड़ी आर्मी ने दावा किया है कि सभी तक उन्होंने 25000 लोगों से स्थायी राजधानी गैरसैण के लिए रायसुमारी की है । जिसे राज्य भर में फैलाया जा रहा है । रानीखेत प्रदर्शन में हर्षवर्धन जोशी, आयुष कुमार, कमलेश पांडे, गौरव जोशी, नितिन पांडे, सागर रावत,लकी गुप्ता, आफताब अंसारी, करण कुमार ,संजय आर्य, विनोद सनवाल, धीरज गढ़िया आदि लोग उपस्थित रहे ।

  1. हिलवार्ता न्यूज डेस्क 
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड आपदा ब्रेकिंग :सुन्दरढूंगा क्षेत्र में एसडीआरएफ को मिली सफलता,लापता पांच बंगाली ट्रेकर्स के शव मिले,कलकत्ता भेजे जा रहे हैं शव,पूरी खबर @हिलवार्ता

 

, , , , , , ,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments