Breaking News

Doctor,s Day 1st july 2022 special report:”अग्रिम मोर्चे पर फैमिली डॉक्टर,थीम के साथ Doctor,s Day सेलिब्रेशन आज. डॉ एन एस बिष्ट का विशेष आलेख पढिये @हिलवार्ता Dehradun : धामी सरकार के 100 दिन पूरे, शिक्षा मित्र और अतिथि शिक्षकों का मानदेय बढ़ा,खबर@हिलवार्ता Uttrakhand:हिमांचल की तर्ज पर राज्य में ग्रीन सेस लगाए जाने की जरूरत, बेतहासा पर्यटक,धार्मिक टूरिस्म प्राकृतिक संसाधनों पर भारी,पढ़ें@हिलवार्ता Haldwani : प्रसिद्ध लोक साहित्यकार स्व मथुरा दत्त मठपाल स्मृति दो दिवसीय कार्यशाला 29-30 जून एमबीपीजी में,100 कुमाउँनी कवियों के कविता संग्रह का होगा विमोचन, खबर@हिलवार्ता Uttrakhand : मानसून ने दी दस्तक, राज्य के मैदानी क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट, मुनस्यारी ने तेज बारिश के बाद सड़क यातायात प्रभावित,खबर@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

आजादी से पूर्व उत्तराखंड की टिहरी रियासत की राजमाता सूरज कुँवर साह का 98 वर्ष की आयु में निधन,दिवंगत सूरज कुँवर 8 बार टिहरी उत्तराखंड से सांसद रहे मानवेन्द्र साह की धर्मपत्नी थी ।

सूरज कुँवर राजस्थान के बांसवाड़ा रियासत के राजा की बेटी थी उनका जन्म 22 सितम्बर 1923 को हुआ । आज सायं उन्होंने दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में दुनियां से विदा ली । वरिष्ठ पत्रकार शीशपाल सिंह गुसाईं के अनुसार उनका पार्थिव शरीर उत्तराखंड लाया जा रहा है । 4 अक्टूबर को उनका मुनिकीरेती घाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा । वर्ष 2007 में राजा मानवेन्द्र शाह का निधन हो गया था । 98 वर्षीय सूरज कुँवर अपने पीछे तीन पुत्रियां और एक बेटा मनुजेंद्र( टीका)शाह को छोड़ गई हैं ।

ज्ञात रहे कि टिहरी रियासत में शाह वंश ने 1815 से 1949 तक शासन किया । आजादी आंदोलन में टिहरी रियासत के लोग बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने लगे । और साथ ही रियासत का भारत मे विलय का आंदोलन भी चला । इस आंदोलन के बाद टिहरी रियासत की पकड़ जनता में कम होने लगी । जिसे भांपकर पवार वंश के शासक महाराजा मानवेन्द्र शाह ने भारत मे विलय कर लिया । आजादी के बाद लगातार 8 बार राजवंशी मानवेन्द्र शाह टिहरी के सांसद रहे ।2007 में उन्होंने देह त्याग दिया आज उनकी धर्मपत्नी ने भी 98 वर्ष की आयु में देह त्याग दिया ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क 

, , , , , , , ,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments