Breaking News

बड़ी खबर : पीएम की रैली कल देहरादून में, राज्य सभा सांसद प्रदीप टम्टा ने कहा अगर उत्तराखंड से वाकई प्रधानमंत्री को है प्यार, विशेष राज्य का दर्जा लौटाएं कल, और भी हैं मांग ,पढिये @हिलवार्ता उत्तराखंड : कोविड के बढ़ते मामलों के बीच टीकाकरण की स्थिति पर एसडीसी की विस्तृत रिपोर्ट पढ़िए @हिलवार्ता उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में शिक्षक कर्मचारी मुख्य गेट बंद करने से भड़के, कहा विश्वविद्यालय है कैद खाना नही, नाराज शिक्षक कर्मचारियों ने की नारेबाजी, खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : सुप्रसिद्ध गायक नरेंद्र सिंह नेगी,अब डॉ नरेंद्र सिंह नेगी, हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय ने डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा, खबर @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी : स्वामी सत्यबोधानंद एवम उनके पड़ोसी पर हमला करने वाले तीन आरोपियों को आज शाम पुलिस ने सुसंगत धाराओं में गिरफ्तार कर लिया । मामला 3 नवम्बर का है । हमलावर खुद को सतारुढ़ दल का कार्यकर्ता बताकर गिरफ्तारी से बचने के लिए  दो दिन से केबिनेट मंत्री के दरबार में तक दस्तक दे रहे थे ।

मंत्री के संज्ञान में पूरा मामला आने के बाद शाम आखिकार तीनो की गिरफ्तारी हो गई है मामला हनुमान  मंदिर के पास उषा रूपक कॉलोनी का है यहां  कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज से संबंधित मानव उत्थान सेवा समिति का आश्रम है जिसकी देखरेख का जिम्मा स्वामी सत्यबोधा नंद के पास है ।

Complaints against said people by swami to ssp nainital .

स्वामी ने बताया कि आश्रम के सामने रहने वाला भंडारी परिवार आश्रम बनने के बाद से ही उनसे और आने जाने वाले लोगों से दबंगई करता आया है । उक्त परिवार आश्रम नही बनने देने के लिए कोर्ट भी गया जहां से निर्णय आश्रम के पक्ष में हो गया । इसके बाद से ही परिवार सत्यबोधानंद से खुंदक रखने लगा ।

यह भी पढ़ें 👉 

स्वामी सत्यबोधानंद के अनुसार आए दिन पूरा परिवार उनसे और आने वाले लोगों पर टीका टिप्पणी करता रहता है । कई बार उन्होंने कोशिश की कि शांति बने रहे लेकिन उक्त लोग मानने को तैयार नहीं हैं । स्वामी ने बताया कि बिगत दिवस वह दिया आरती कर बाहर टहल रहे थे कि नवनीत भंडारी उसके बड़े भाई कमलेश भण्डारी एवं मदन रावत तीनो आश्रम परिसर पर नशे की हालत में गाली करने लगे । और मारपीट को उतारू हो गए, बीच बचाव के लिए आगे आए आश्रम घूमने आए पड़ोसी एडवोकेट ऐश्वर्य जोशी पर अचानक हमला कर दिया ।जिससे उक्त व्यक्ति के हथेली और अंगुली मे फेक्चर हो गया फेक्चर की मेडिकल रिपोर्ट में पुष्टि हुई है ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में शिक्षक कर्मचारी मुख्य गेट बंद करने से भड़के, कहा विश्वविद्यालय है कैद खाना नही, नाराज शिक्षक कर्मचारियों ने की नारेबाजी, खबर@हिलवार्ता

स्वामी ने 4 नवम्बर की सुबह मुखानी चौकी में तीनों के खिलाफ तहरीर दी ।  और हमलावरों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की ।स्वामी ने बताया कि हमला करने के बाद जैसे ही उक्त हमलावरों को भनक लगी तीनो गिरफ्तारी के भय से कुछ पड़ोसियों के साथ केबिनेट मंत्री बंशीधर भगत के पास चले गए । स्वामी ने बताया कि वह भी स्वयं चोटिल ऐश्वर्य सहित मंत्री से मिले और आपबीती सुनाई । स्वामी बताते हैं कि उक्त लोग  भी उसी समय पर मंत्री आवास पहुच गए जहां वह आपबीती सुना रहे थे। वहां भी मंत्री के समक्ष ही दोनों पक्षों में गरमा गर्मी हो गई ।

बहर हाल तीनो की आज शाम गिरफ्तारी हो गई है । स्वामी ने कहा कि उक्त लोग आपराधिक प्रवर्ति के हैं और अपनी ऊंची राजनीतिक पहुच हनक दिखाते धमकियां देते रहते हैं ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : सुप्रसिद्ध गायक नरेंद्र सिंह नेगी,अब डॉ नरेंद्र सिंह नेगी, हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय ने डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा, खबर @हिलवार्ता

 

इससे पहले 2019 में भी वह उक्त लोगों के खिलाफ एसएसपी नैनीताल, डीजीपी उत्तराखंड सहित सिटी मजिस्ट्रेट को शिकायती पत्र दे चुके हैं । स्वामी को दुख है कि प्रशासन ने गंभीरता से संज्ञान लिया होता तो आज इनकी हिम्मत हमला करने की नहीं होती । उन्होंने कहा कि कल की घटना से उन्हें उक्त परिवार से जान माल का खतरा बना हुआ है ।

स्वामी कहते हैं कि कई बार स्थानीय पुलिस थाने सहित जिले के उच्चाधिकारियों को शिकायत करने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं होने की वजह अपराधियों के हौसले बुलंद होते हैं । सत्यबोधानंद महाराज ने मांग की है कि उनकी पुरानी और नई शिकायत के आधार पर कड़ी से कड़ी दंडात्मक कार्यवाही अमल में लाई जानी चाहिए ।

 

हिलवार्ता न्यूज डेस्क की रिपोर्ट

, , , ,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments