Breaking News

Big Breaking : लक्ष्य सेन India Open Badminton 2022 के फाइनल में पहुँचे, विश्व चेम्पियन लोह किन यू से होगा मुकाबला : पूरी खबर @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022 : पर्वतीय क्षेत्रों में कम लोग कर रहे मतदान, 2017 का ट्रेंड जारी रहा तो कई दलों का चुनावी गणित होगा प्रभावित, विशेष रिपोर्ट @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022: हलद्वानी में मेयर डॉ जोगेंद्र पाल सिंह रौतेला ही होंगे भाजपा के खेवनहार, सूत्रों से खबर @हिलवार्ता पिथौरागढ़ : 11 माह पहले सेना भर्ती के लिए मेडिकल फिजिकल पास कर चुके युवा लिखित परीक्षा न होने से परेशान, पूर्व सैनिक संगठन से मिले कहा प्लीज हेल्प, खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : विधानसभा चुनाव नामांकन में 15 दिन शेष, समर्थक बेचैन, उम्मीदवारों का पता नहीं, सीमित समय में चुनावी कैम्पेन से असल मुद्दों के गायब होने का अंदेशा,क्यों और कैसे, पढिये@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के सीमांत की कई सड़कों की देखरेख बी आर ओ यानी बॉर्डर रोड आर्गेनाईजेशन के जिम्मे है । लेकिन बीआरओ पर इन सड़कों के निर्माण में घटिया निर्माण सामग्री की शिकायतें आम हैं । स्थानीय जनप्रतिनिधि बीआरओ में भृष्टाचार की जड़ें गहरी होने का अंदेशा जता रहे हैं ।
सोशल मीडिया में सीमांत क्षेत्र का  एक वीडियो वायरल हुआ जिसमे कहा जा रहा है कि क्षेत्र में सड़क और अन्य निर्माण के लिए सीमेंट नेपाल को बेचा जा रहा है । वीडियो बूंदी पिथौरागढ़ का बताया जा रहा है जिसमें टिप्पर से सीमेंट काली नदी पार नेपाल बेचे जाने का आरोप है।

सीमेंट तस्करी का कथित वीडियो


मुनस्यारी से जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया कहते हैं कि वायरल वीडियो की जांच की जानी चाहिए । सामरिक महत्व की सड़कों की गुणवत्ता जांची जानी आवश्यक है । मर्तोलिया कहते हैं बीआरओ के सीमेंट बेचे जाने की शिकायतें आम हैं लेकिन यह वीडियो अगर बीआरओ के कारनामों से सम्बंधित है तो यह चिंताजनक ही नहीं दण्डनीय है ।मर्तोलिया ने इस संबंध में  जिलाधिकारी को पत्र लिखकर इसकी मजिस्ट्रीयल जांच किए जाने की मांग की। साथ में कहा कि स्थानीय पुलिस बी.आर.ओ.के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज कर पृथक से इसकी जांच करे।
जिलापंचायत सदस्य ने कहा है कि धारचूला में तवाघाट – लीपूलेख मोटर मार्ग में बी.आर.ओ.का सरकारी ट्रक सीमेंट बूंदी से लगे नेपाली सीमा पर खाली कर रहा है। उसके बाद मजदूर सीमेंट को नेपाल ले जा रहे है। काली नदी का जल स्तर काफी कम है। माना जा रहा है कि यह वीडियो जाड़ो के समय का होगा। जब नदी में पानी कम रहता है।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने आज जिलाधिकारी को ईमेल से पत्र भेजकर इसकी जांच की मांग उठा दी है। कहा कि गूंजी में सीमेंट व डीजल नहीं होने से बी.आर.ओ. सड़क नहीं खोल पा रहा है। स्थानीय मजदूरो को रोजगार भी नहीं मिल पा रहा है। यहां बी.आर.ओ.नेपाल सीमेंट बेचकर लाखो रुपये का घोटाला वर्षो से कर रहा है।
मर्तोलिया ने बताया कि 8 जुलाई को जिला पंचायत की बैठक में पहली बार बी.आर.ओ.के कमान अधिकारी तथा सभी ओ.सी. को भी बुलाया गया है। जिसमें उक्त वीडियो को बीआरओ अधिकारियों को दिखाना शामिल था । लेकिन बैठक में कोई भी अधिकारी नहीं पहुँचा ।
जगत मर्तोलिया ने बताया है कि जिला पंचायत ने बीआरओ को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है । साथ ही जिलाधिकारी पिथौरागढ़ आनंद स्वरूप ने  कहा है कि उक्त सहित अन्य आरोपों की जांच तीन दिन के भीतर करवाई जा रही है । जिलाधिकारी ने सदन को अवगत किया है कि उक्त मामले पर रक्षा मंत्रालय सहित अन्य संबंधित विभागों को इन आरोपों की जांच के विषय मे अवगत भी कराया जा रहा है ।
जिलाधिकारी ने बताया कि सीमेंट चोरी की रिपोर्ट बीआरओ को दर्ज करानी होगी ।
ज्ञात रहे कि स्थानीय लोगों ने इसी तरह के सीमेंट डीजल चोरी के चार वीडियो जिलाधिकारी को सौपें हैं जिसके बाद जिलाधिकारी उचित कार्यवाही के लिए आवश्यक कदम ले रहे हैं ।
मर्तोलिया ने कहा है कि केन्द्र , राज्य, सेना तथा अद्धसैनिक बलो के इंटलीजेंस यूनिटो व साइबर क्राइम सेल से इस मामले में मदद लेने की कोशिश की जा रही है । उन्होंने कहा कि सीमांत क्षेत्र की जनता को जल्द इस मामले का पटाक्षेप चाहिए । अगर हीलाहवाली की गई तो जनता आंदोलन को बाध्य होगी ।

यह भी पढ़ें 👉  विधानसभा चुनाव 2022 : पर्वतीय क्षेत्रों में कम लोग कर रहे मतदान, 2017 का ट्रेंड जारी रहा तो कई दलों का चुनावी गणित होगा प्रभावित, विशेष रिपोर्ट @हिलवार्ता

हिलवार्ता न्यूज डेस्क

, , , , , , , , , ,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments