Breaking News

Doctor,s Day 1st july 2022 special report:”अग्रिम मोर्चे पर फैमिली डॉक्टर,थीम के साथ Doctor,s Day सेलिब्रेशन आज. डॉ एन एस बिष्ट का विशेष आलेख पढिये @हिलवार्ता Dehradun : धामी सरकार के 100 दिन पूरे, शिक्षा मित्र और अतिथि शिक्षकों का मानदेय बढ़ा,खबर@हिलवार्ता Uttrakhand:हिमांचल की तर्ज पर राज्य में ग्रीन सेस लगाए जाने की जरूरत, बेतहासा पर्यटक,धार्मिक टूरिस्म प्राकृतिक संसाधनों पर भारी,पढ़ें@हिलवार्ता Haldwani : प्रसिद्ध लोक साहित्यकार स्व मथुरा दत्त मठपाल स्मृति दो दिवसीय कार्यशाला 29-30 जून एमबीपीजी में,100 कुमाउँनी कवियों के कविता संग्रह का होगा विमोचन, खबर@हिलवार्ता Uttrakhand : मानसून ने दी दस्तक, राज्य के मैदानी क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट, मुनस्यारी ने तेज बारिश के बाद सड़क यातायात प्रभावित,खबर@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -
मुनस्यारी में 10 माह पहले बना टैंक

पहाड़ों में पानी की किल्लत की वजह यहां 24 घंटे में एक तिहाई समय पानी ढोने में चला जाता है । इसमे दो राय नही कि यहां सर्वाधिक परिश्रम पानी लाने में ही है । बमुश्किल पानी की परियोजना परवान चढ़ती है । थोड़ा राहत की आशा बढ़ी कि टैंक लीक हो जाए । आखिर क्या कारण है कि टैंक लीक के मामले रुकते ही नहीं ?

कभी टँकी से भ्रस्टाचार लीक ,तो कहीं भ्रस्टाचार के ओवरहेड टैंक से पानी रिसाव की ख़बरें आए दिन आते रहती हैं । वर्ष 2017 में तो एडीबी द्वारा हल्द्वानी में निर्मित 16 टैंक लीक होने का मामला महीनों अखबारों की सुर्खियां लूट ले गया ।

इधर ऐसा ही मामला मुनस्यारी पेयजल योजना में भी देखने को मिला है यहां भी 10 माह पहले बना पानी तहसील के पास का टैंक लीक हो गया । स्थानीय स्तर पर शिकायत के बाद बाहर अंदर से सीमेंट का लेप पोता गया लेकिन पानी है कि रुकने का नाम नहीं लेता ।


स्थानीय जिला जिलापंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने विभागीय अधिकारियों से शिकायत की जिसके बाद भी टैंक लीक होता रहा । मामला मर्तोलिया ने डीएम पिथौरागढ़ और एडीएम के सामने रखा । मामले में डीएम ने चार सदस्यीय जांच टीम गठित कर दी है ।


जांच टीम एसडीएम अभय प्रताप सिंह की अगुवाई में 4 जून को स्थलीय निरीक्षण करेगी टीम में सहायक अभियंता जल संस्थान,सिचाई विभाग,सहिय नायब तहसीलदार योजना में हुई खामियों को जांचेंगे ।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया कहते हैं कि 10 माह बने टैंक का लीक हो जाना घोर लापरवाही का मामला है । जांच टीम का लोगों को इंतजार रहेगा कि आखिर यह भ्रस्टाचार का लीक है कि कोई तकनीकी गड़बड़ी । ज्ञात रहे मुनस्यारी पेयजल योजना 1.74 करोड़ रुपये की लागत से बनाई जा रही है ।

टैंक का नजदीक से लिया गया फ़ोटो ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क

, , , , , , ,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments