Breaking News

Doctor,s Day 1st july 2022 special report:”अग्रिम मोर्चे पर फैमिली डॉक्टर,थीम के साथ Doctor,s Day सेलिब्रेशन आज. डॉ एन एस बिष्ट का विशेष आलेख पढिये @हिलवार्ता Dehradun : धामी सरकार के 100 दिन पूरे, शिक्षा मित्र और अतिथि शिक्षकों का मानदेय बढ़ा,खबर@हिलवार्ता Uttrakhand:हिमांचल की तर्ज पर राज्य में ग्रीन सेस लगाए जाने की जरूरत, बेतहासा पर्यटक,धार्मिक टूरिस्म प्राकृतिक संसाधनों पर भारी,पढ़ें@हिलवार्ता Haldwani : प्रसिद्ध लोक साहित्यकार स्व मथुरा दत्त मठपाल स्मृति दो दिवसीय कार्यशाला 29-30 जून एमबीपीजी में,100 कुमाउँनी कवियों के कविता संग्रह का होगा विमोचन, खबर@हिलवार्ता Uttrakhand : मानसून ने दी दस्तक, राज्य के मैदानी क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट, मुनस्यारी ने तेज बारिश के बाद सड़क यातायात प्रभावित,खबर@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

प्रसिद्ध तीर्थ स्थल यमुनोत्री में बंदे मातरम सैनिक अकादमी में ट्रेनिंग ले रहे छात्र छात्राओं ने तीन दिवसीय सफाई अभियान को अंजाम दिया है । 14 जून से चला यह अभियान तीन दिन चला । अभियान का नेतृत्व अकेडमी के संचालक राजेश सेमवाल ने किया ।

राजेश ने हिलवार्ता को बताया कि उनकी अकेडमी में पड़ रहे छात्र छात्राओं की सहमति से उन्होंने यमुनोत्री पहुचकर धाम की साफ सफाई का मन बनाया कुल 26 स्टूडेंट इस अभियान में शामिल हुए । राजेश बताते हैं कि यमुनोत्री में आ रहे पर्यटकों द्वारा धाम के पास बह रही जलधारा को बहुत अधिक प्रदूषित किया है । स्थानीय लोगों द्वारा भी प्लस्टिक कचरा जलधारा में डाला जा रहा है । तीन दिन में उनकी टीम ने सैकड़ों कुंतल प्लस्टिक बोतलें प्लस्टिक एकत्र किया और दूर फेंका । राजेश और उनकी टीम को तब आश्चर्य हुआ जब यमुनोत्री में उन्हें शराब और बीयर की खाली बोतलों का जखीरा मिला ।

 

सेमवाल का कहना है कि धार्मिक स्थल के आसपास इस तरह के कृत्य से उन्हें बेहद दुख हुआ कि उत्तराखंड में किस तरह लोग धार्मिक पर्यटन के नाम पर मौज मस्ती के लिए आ रहे हैं । उन्होंने मांग की है कि यहां आ रहे पर्यटकों को इस तरह के कृत्यों से रोका जाना चाहिए वरना हिमालयी स्वच्छ जलधाराओं सहित धार्मिक स्थलों की पवित्रता पर प्रश्नचिन्ह लग सकता है ।

राजेश ने बताया कि कैसे नमामि गंगे सहित कई अन्य अभियानों के वावजूद इन क्षेत्रों में टनों प्लस्टिक कचरा वेस्ट डाला जा रहा है उन्होंने आश्चर्य जताया कि लाखों रुपये के बजट के वावजूद साफ सफाई शून्य है । उनका कहना है कि इस तरह के प्रोजेक्ट से जुड़े लोग अखबारों में फ़ोटो छपकर इतिश्री कर लेते हैं जिस कारण क्षेत्र की यह हालत है । और न ही नगर परिषद की तरफ से धरातल पर कोई काम दिखता है । सेमवाल की टीम के कार्य से प्रभावित होकर एक आश्रम द्वारा पचास हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी गई है । अकादमी बार बार इस तरह के सफाई अभियान यमुनोत्री सहित अन्य धार्मिक स्थलों में भी चलाने की घोषणा कर चुकी है ।

तीन दिन चले इस महत्वपूर्ण अभियान का संचालन राजेश सेमवाल ने किया उनके साथ अजय बिजल्वाण धीरज,पंकज दास, पंकज राणा,महेंद्र राणा,अजीत,रोबिन रावत,प्रज्ज्वल बहगुणा,प्रवेश कुमार,शिवराज,दीपक, जसपाल राणा,बीरेंद्र,अमलेश ,अभिषेक हिमांशु,रविन्द्र, प्रीति भवानी,सोनम राणा,अंजली,साक्षी राणा,पल्लवी,चुन्नू रावत,निशा, अम्बिका चौहान,संगीता और दीपिका शामिल रही ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क की रिपोर्ट

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments