Breaking News

Big Breaking : गुरुग्राम में हुई सीए की गिरफ्तारी के विरोध में हलद्वानी के चार्टर्ड अकाउंटेंट मुखर,सीबीआइसी को ज्ञापन सौंपा,जीएसटी रिफण्ड का है मामला,पढ़े @हिलवार्ता Uttarakhand : पत्रकारिता के क्षेत्र में दिए जाने वाले उमेश डोभाल पुरस्कारों की घोषणा हुई,शोसल,इलेक्ट्रॉनिक,और प्रिंट मीडिया लिए चयनित हुए चार नाम,खबर @हिलवार्ता Special report : देहरादून के दो युवाओं ने बना दिया एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो देगा अंतरराष्ट्रीय सॉफ्टवेयर को टक्कर ,खबर @हिलवार्ता चंपावत उपचुनाव : पुष्कर सिंह धामी ने चंपावत सीट से अपना पर्चा दाखिल किया, सुबह खटीमा में पूजा अर्चना के बाद पहुचे चंपावत खबर @हिलवार्ता Ramnagar : साहित्य अकादमी पुरस्कार से अलंकृत दुधबोली के रचयिता मथुरा दत्त मठपाल की पहली पुण्यतिथि पर जुटे साहित्यकार, कल होगी दुधबोली पर चर्चा,खबर @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

Imp news : 3 मई से चार धाम यात्रा शुरू हो रही है राज्य में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए जरूरी है कि सरकार द्वारा यात्रा के लिए आवश्यक नियमों की जानकारी कर ली जाये जिससे कि किसी तरह की दिक्कत का सामना न करना पड़े ।

देश भर में भारी गर्मी है । बिजली की कटौती चल रही है ऐसे में पहाड़ों की सैर पर निकलना अधिकतर की इच्छा रहती है । पिछले कुछ समय से वीकएंड पर्यटकों की संख्या में भी खासा बढ़ोतरी हुई है । भीड़ को देखते हुए मसूरी और नैनीताल जैसे पर्यटक स्थलों में जाम की स्थिति रही । स्थानीय प्रशासन ने नैनीताल मसूरी में रूट डायवर्जन और नए नियमों द्वारा बमुश्किल व्यवस्थाएं बनाई हैं ।

राज्य में दो दिन बाद तीर्थाटन भी शुरू हो रहा है पर्यटकों की बढ़ती हुई संख्या के मद्देनजर यात्रा के दौरान तीर्थ यात्रियों को परिवहन, ठहरने, भोजन, पार्किंग और मंदिरों में श्रद्धालुओं की दर्शन क्षमता के मद्देनजर सरकार ने धामों के लिए यात्रियों की अधिकतम संख्या को निर्धारित कर दिया है।

कल जारी आदेश के तहत  बदरीनाथ धाम में प्रतिदिन 15000, केदारनाथ में 12000, श्री गंगोत्री 7000 व श्री यमुनोत्री में 4000 तीर्थ यात्रियों की संख्या निर्धारित की कर दी गई है। चार धाम यात्रा मार्गों पर रात्रि 10 बजे से प्रात: 4 बजे तक यातायात प्रतिबंधित रहेगा। यात्रा रूट पर 580 बसों को तैयार कर लिया गया है ।

ध्यान रहे कि उत्तराखंड के इन तीर्थों की तरफ आ रहे यात्रा से पूर्व तीर्थ यात्रियों/ श्रद्धालुओं को पर्यटन विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य किया गया है ।

इसलिए किसी भी तरह की असुविधा से बचने के लिए बिना पंजीकरण आफत का विषय हो सकता है । जरूरी है कि यात्रा के लिए जारी दिशा निर्देशों को ठीक से अध्य्यन कर अपनी यात्रा को सुगम /सुरक्षित बनाया जा सकता है ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क की रिपोर्ट

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments