Breaking News

Big breaking:2023 के बाद Johnson & Johnson टेल्क पाउडर होगा बाजारों से गायब, पाउडर में कैंसर के लिए जिम्मेदार अवयव मिलने के बाद भरना पड़ा भारी जुर्माना,पूरी खबर पढिये@हिलवार्ता Good initiative : रामनगर स्थित public school ने उत्तराखंड के आजादी के नायकों की फ़ोटो गैलरी बनाकर की मिशाल कायम,खबर विस्तार से@हिलवार्ता Big Breaking: उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन ने commenwealth games का स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : दुखद खबर: उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हरीश पाठक का निधन, पूरी जानकारी @हिलवार्ता Haldwani धरना अपडेट :सिटी मजिस्ट्रेट का आश्वासन, एक हप्ते में होगा समाधान ,जलभराव से निजात के लिए चल रहा धरना स्थगित,विधायक भी पहुँचे धरनास्थल,खबर@ हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड विद्युत विभाग के उच्चधिकारियों ने आज बड़ी कार्यवाही करते हुए,उधमसिंह नगर के अपने तीन बड़े अधिकारी निलंबित कर दिए,मामला गदरपुर के फ्लोर मिल में विद्युत चोरी का है. जिसमे विभागीय इन तीनो अधिकारियों की संलिप्तता पाई गई है साथ ही इन अधिकारियों द्वारा काम मे लापरवाही बरती गई है जिसकी सजा आज निलंबन के तौर पर हुई है ।
कॉर्पोरेशन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए विभाग के अधीक्षण अभियंता नरेंद्र सिंह टोलिया, रुद्रपुर डिवीजन के अधिशासी अभियंता उमाकांत चतुर्वेदी और गदरपुर के एसडीओ गिरीश आर्य निलंबन का आदेश थमा दिया है.
उत्तराखंड पावर कॉरपोरेशन के एमडी ने यह कार्रवाई की है हाल ही एक मामला और 20 अप्रैल को विद्युत विभाग के अधिकारियों ने प्रेम नगर में यशोदा इंडस्ट्रीज में भी लाखों रुपए की विद्युत चोरी पकड़ी,इस मामले में पहले ही एक जेई निलंबित हो चुका है निलंबन की इस कार्रवाई से विद्युत विभाग में हड़कंप मच गया है ।
ज्ञात रहे उत्तराखंड पावर कॉर्पोरेशन लि.के अधिकारियों की लापरवाही के कारण प्रदेश में बिजली चोरी पर लगाम नहीं लग पा रही है समय समय पर उद्योगों को अधिकारियों की मिली भगत से बिजली बेचने के इल्जाम लगते रहे हैं जिसकी वजह अधिकारी इसे लाइन लॉस का नाम दे दे रहे थे,करीब करीब सपष्ट होने लगा है कि लाइन लॉस में करीब 90 फीसद से ज्यादा मामले बिजली चोरी के हैं.
विभागीय कथनानुसार 16 फीसद विजली का विभाग को पता ही नही चल पा रहा है.जिम्मेदार अफसर ने बताया कि उत्तराखंड की बिजली विभाग की पांच डिवीजनों में 30 से 49 प्रतिशत तक लाइन लॉस हो रहा है,इस वजह हर 800 करोड़ का नुकसान हो रहा है.देहरादून,बागेश्वर,हरिद्वार, उत्तरकाशी,रुद्रप्रयाग जिले सर्वाधिक लाइन लास दिखा रहे है जिनकी जांच चल रही है यहां भी कार्यवाही लंबित होने की बात सामने आ रही है ।
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta. com