Breaking News

Big breaking:2023 के बाद Johnson & Johnson टेल्क पाउडर होगा बाजारों से गायब, पाउडर में कैंसर के लिए जिम्मेदार अवयव मिलने के बाद भरना पड़ा भारी जुर्माना,पूरी खबर पढिये@हिलवार्ता Good initiative : रामनगर स्थित public school ने उत्तराखंड के आजादी के नायकों की फ़ोटो गैलरी बनाकर की मिशाल कायम,खबर विस्तार से@हिलवार्ता Big Breaking: उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन ने commenwealth games का स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : दुखद खबर: उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हरीश पाठक का निधन, पूरी जानकारी @हिलवार्ता Haldwani धरना अपडेट :सिटी मजिस्ट्रेट का आश्वासन, एक हप्ते में होगा समाधान ,जलभराव से निजात के लिए चल रहा धरना स्थगित,विधायक भी पहुँचे धरनास्थल,खबर@ हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

Haldwnai :  पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के बीच राजस्थान सरकार ने आज बड़ी घोषणा की है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत ने आज अपने राज्य में पुरानी पेंशन को लागू करने की घोषणा की है । जिसका सरकारी कर्मचारियों ने जोरदार स्वागत किया है। पूर्व पीएम अटल विहारी बाजपेयी के शासनकाल  2004 में पेंशन बंद और नई स्कीम लागू कर दी गई थी । तब से किसी फोरम पर पुरानी पेंशन बहाली की मांग केंद्र और राज्यों के कर्मचारी करते आए हैं ।

अशोक गहलौत की इस घोषणा के बाद अन्य राज्यों में भी अब इस मांग पर संघर्ष तेज होने के आसार बढ़ गए हैं साथ ही केंद्र और राज्यों पर पुरानी बहाली का दबाव बढ़ने की संभावनाएं हैं । कि राजस्थान की तर्ज पर Old pension scheme (ओपीएस) को लागू किया जाए ।

दरअसल आज राजस्थान सरकार ने अपना भारी भरकम बजट पेश किया जिसमें कई घोषणाओं के साथ वर्ष 2017 में कर्मचारियों की वेतन कटौती का निर्णय वापस करने की घोषणा के साथ कहा कि राज्य में पुरानी पेंशन योजना बहाल होगी । इसका मतलब हुआ कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार 1 जनवरी 2004 और उसके बाद नियुक्त कर्मियों को पहले की तरह रिटायरमेंट के बाद पेंशन देने को तैयार है । इधर हाल ही देश भर में पुरानी पेंशन बहाली की मांग हर राज्य में हो रही थी लेकिन राजस्थान सरकार ने इसे लागू करने की घोषणा कर अन्य राज्यों पर भी दबाव बढ़ गया है कि जल्द इस मांग पर कार्यवाही करें ।

ज्ञात रहे कि पांच राज्यों में हो रहे चुनाव पर भी इसका असर पड़ सकता है । यूपी में अभी दो चरणों मे मतदान होना है यह मामला यूपी के 18 लाख कर्मचारियों पर किस कदर असरकारक होगा यह देखना होगा क्योंकि सपा ने अपने घोषणा पत्र में पुरानी पेंशन बहाली की हामी भरी है ।
उत्तराखंड में भी राजस्थान की तर्ज पर चुनाव परिणाम के बाद सुगबुगाहट एक बार फिर शुरू हो सकती है बहरहाल 10 मार्च और नई सरकार बनने तक इंतजार करना होगा ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments