Breaking News

बिग ब्रेकिंग: इंतजार खत्म,अब कभी भी जारी हो सकता है NEET UG Result 2021, सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसी को परिणाम घोषित करने की दी छूट,पूरी खबर @हिलवार्ता बड़ी खबर: उत्तराखंड निवासी राष्ट्रीय (महिला) बॉक्सिंग प्रशिक्षक भाष्कर भट्ट को वर्ष 2021 का द्रोणाचार्य अवार्ड मिला,बॉक्सिंग में उत्तराखंड के पहले अवार्डी बने भट्ट,खबर विस्तार से @हिलवार्ता विशेष खबर: अलमोड़ा निवासी अमेरीकी डिजाइन इंजीनियर का मिशन है हर साल गांव आकर पढ़ाना, और गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद देना,जानिए उनके बारे @हिलवार्ता उत्तराखंड : दो पर्यटक वाहनों की टक्कर में पांच की मौत पंद्रह घायल,दो अलग अलग घटनाओं में एक हप्ते के भीतर 10 बंगाली पर्यटकों की गई जान,खबर विस्तार से @हिलवार्ता उत्तराखंड: नियोजन समिति के चुनाव न कराए जाने पर प्रदेश के जिलापंचायत सदस्य नाराज, एक नवम्बर से काला फीता बांध करेंगे विरोध, और भी बहुत,पढिये@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी: एमबीपीजी कॉलेज में राष्ट्रीय स्तर की दो दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न हुई दो दिवसीय राष्ट्रीय कांफ्रेंस ऑन इंटीग्रिटी ऑफ मैथमेटिक्स इन एडवांसमेंट ऑफ साइंस टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट विषय पर आयोजित सेमिनार में विशेषज्ञों ने अपने विचार रखे ।

दो दिन चले इस सेमिनार में गणित और विज्ञान के प्राध्यापकों ने प्रतिभाग किया मुख्य वक्ता डॉ अनीता तोमर राजकीय स्नातक महाविद्यालय थतयूड रही । डॉ नरेंद्र कुमार सिंह, ने प्रथम सत्र में गणित की महत्ता पर प्रकाश डाला और माना कि गणित में फिक्स पॉइंट थयोरी के माध्यम से विभिन्न विषयों को अर्थशास्त्र भौतिक विज्ञान रसायन विज्ञान एवं वनस्पति विज्ञान को जोड़ा जा सकता है। फिक्स पॉइंट थ्योरी एक महत्वपूर्ण अनुप्रयोग मल्टीप्लेयर खेल में मिश्रित नेट संतुलन की उपस्थिति को सिद्ध करता है।

सेमिनार के आयोजक डॉ गोविंद पाठक ने अपनी बात रखते हुए बताया कि गणित ऐसी विधाओं का समूह है जो केवल धारणाओं एवं नियमों का संकलन मात्र ही नहीं बल्कि दैनिक जीवन का भी मूल आधार है। डॉक्टर पाठक ने यह भी बताया मानव सभ्यता में गणित का महत्व आदि काल से रहा है जब वह इस ज्ञान से अनभिज्ञ थे तब भी कहीं ना कहीं अनजाने में गणित का प्रयोग कर रहे थे। आज गणित के माध्यम से ही हम एक नई दिशा की ओर अग्रसर हो रहे जो उन्नति का तरक्की का मार्ग है।

द्वितीय सत्र में ऑनलाइन के माध्यम से यूओयू प्रोफेसर दुर्गेश पंत ने कहा कि गणित बच्चों को अपनी तर्कशक्ति स्मरण शक्ति एकाग्रता एवं चिंतन विकसित करने के अवसर प्रदान करती है। गणित द्वारा बौद्धिक मूल्य, नैतिक मूल्य, सामाजिक मूल्य, जीवन में जीविका संबंधी मूल्य प्राप्त किए जा सकते हैं। ऑनलाइन सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए डॉ विवेक कुमार रहे । इसी सत्र में डॉ राजेश प्रताप सिंह सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार द्वारा पॉलिनॉमियल पर प्रकाश डाला । ऑनलाइन डॉक्टर गजेंद्र सिंह सिसोदिया, देहरादून से डॉक्टर संजय पलडिया, डिंपल भट्ट, मध्य प्रदेश से डॉ राकेश शाक्य, झारखंड से डॉ हेमंत कुमार मिश्रा जुड़े ।

अंतिम ऑनलाइन सत्र में शोधार्थी डॉक्टर शंकरलाल, श्री जाहिद आलम, मिस हिमानी मिश्रा, मिस मीना जोशी, मास्टर मुकुल तिवारी द्वारा प्रस्तुत शोध पत्र का आकलन किया। कार्यक्रम का सफल संचालन
डॉक्टर नवल लोहनी द्वारा किया गया। डॉक्टर नवल लोहनी द्वारा हिलवार्ता को बताया गया दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी में कुल 15 शोध पत्र प्रस्तुत किए गए ।

समापन सत्र में प्राचार्य कोटाबाग डॉक्टर नवीन भगत ने बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया और प्रतिभागियों को सेमिनार के प्रमाण पत्र बाटे । एमबीपीजी महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर बीआर पंत ने सेमिनार की सफलता पर आयोजकों को बधाई दी और प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया ।

इस अवसर पर महाविद्यालय के विद्यार्थियों सहित डॉ महेश कुमार, प्रसून जोशी, ममता मिश्रा, सृष्टि बल्लभ मिश्रा, नीरज तिवारी, भुवन मलकानी, डॉक्टर संजय खत्री, डॉक्टर पुष्कर गौड़ एवं शोध छात्र-छात्राएं उपस्थित रही ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : दो पर्यटक वाहनों की टक्कर में पांच की मौत पंद्रह घायल,दो अलग अलग घटनाओं में एक हप्ते के भीतर 10 बंगाली पर्यटकों की गई जान,खबर विस्तार से @हिलवार्ता
, , , ,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments