Breaking News

Big Breaking : गुरुग्राम में हुई सीए की गिरफ्तारी के विरोध में हलद्वानी के चार्टर्ड अकाउंटेंट मुखर,सीबीआइसी को ज्ञापन सौंपा,जीएसटी रिफण्ड का है मामला,पढ़े @हिलवार्ता Uttarakhand : पत्रकारिता के क्षेत्र में दिए जाने वाले उमेश डोभाल पुरस्कारों की घोषणा हुई,शोसल,इलेक्ट्रॉनिक,और प्रिंट मीडिया लिए चयनित हुए चार नाम,खबर @हिलवार्ता Special report : देहरादून के दो युवाओं ने बना दिया एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो देगा अंतरराष्ट्रीय सॉफ्टवेयर को टक्कर ,खबर @हिलवार्ता चंपावत उपचुनाव : पुष्कर सिंह धामी ने चंपावत सीट से अपना पर्चा दाखिल किया, सुबह खटीमा में पूजा अर्चना के बाद पहुचे चंपावत खबर @हिलवार्ता Ramnagar : साहित्य अकादमी पुरस्कार से अलंकृत दुधबोली के रचयिता मथुरा दत्त मठपाल की पहली पुण्यतिथि पर जुटे साहित्यकार, कल होगी दुधबोली पर चर्चा,खबर @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

मौसम विभाग की मानें तो उत्तर भारत में मानसून के आगमन में देरी हो सकती है आमतौर पर उत्तर भारत मे 20 जून तक मानसून दस्तक दे देता है इस बार ऐसा लगता नजर नही आ रहा है पिछले 10 साल नजर डालें तो 21 जून से पहले ही मानसून अपनी दर्ज कर चुका है इसके। इतर 2019 में 30 जून तक इसके पहुचने की उम्मीद की जा रही है विभाग का कहना है कि आमतौर पर जून के मध्य में मानसून बिहार, झारखंड होते हुए पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रवेश कर जाता है, लेकिन इसमें लगातार विलंब हो रहा है मानसून केरल और तमिलनाडु में ही अटका हुआ है और अगले दो-तीन दिनों तक इसके सक्रिय होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं इसका मतलब उत्तरी क्षेत्र को अभी एक और हप्ता गर्मी झुलाएगी.
इस बार बढ़ी हुई गर्मी के चलते देश के 91 प्रमुख जलाशयों के जलस्तर में भी एक प्रतिशत तक की कमी हुई है बीते समाप्त सप्ताह के दौरान देश के 91 प्रमुख जलाशयों में 27.265 बीसीएम जल संग्रह हुआ। यह इन जलाशयों की कुल संग्रहण क्षमता का 17 प्रतिशत है। 13 जून, 2019 को समाप्‍त सप्ताह में जल संग्रह 18 प्रतिशत के स्तर पर था। 20 जून, 2019 को समाप्त सप्ताह में यह संग्रहण पिछले वर्ष की इसी अवधि के कुल संग्रहण का 92 प्रतिशत तथा पिछले दस वर्षों के औसत जल संग्रहण का 93 प्रतिशत है.मानसून के देरी से आने की की वजह जल संकट के साथ साथ फसलों की बुवाई में भी देरी की संभावनाएं व्यक्त की जा रही हैं .
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta.com