Breaking News

उत्तराखंड : कोविड के बढ़ते मामलों के बीच टीकाकरण की स्थिति पर एसडीसी की विस्तृत रिपोर्ट पढ़िए @हिलवार्ता उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में शिक्षक कर्मचारी मुख्य गेट बंद करने से भड़के, कहा विश्वविद्यालय है कैद खाना नही, नाराज शिक्षक कर्मचारियों ने की नारेबाजी, खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : सुप्रसिद्ध गायक नरेंद्र सिंह नेगी,अब डॉ नरेंद्र सिंह नेगी, हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय ने डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा, खबर @हिलवार्ता देहरादून :राज्य भर के कनिष्ठ अभियंताओं (संविदा)लोनिवि ने देहरादून में रैली कर भरी हुंकार,नियमतीकरण तक बैठेंगे धरने पर,खबर विस्तार से @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

अलमोड़ा निवासी संजय उप्रेती आइबीएम में इंजीनियर हैं । अमेरिका में रहते हैं । डिजाइन इंजीनियर उप्रेती पिछले कई वर्षों से सामाजिक क्षेत्र में अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं । जब भी घर अलमोड़ा आते हैं किसी न किसी स्कूल में जाकर पढ़ने वाले बच्चों में कुछ कर गुजरने की हिम्मत बढ़ाते,नई टेक्नोलॉजी पर व्याख्यान देकर ही लौटते हैं उप्रेती यही नहीं गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए पैसा भी मुहैया कराते हैं ।

हमेशा की तरह संजय इस बार फिर से 29 अक्टूबर राजकीय आदर्श इंटर कालेज में अपना व्यख्यान देंगे । प्रधानाचार्य डीडी तिवारी ने बताया कि उप्रेती साल में ऑनलाइन आफलाइन किसी भी तरह विद्यालय में बच्चों को मोटीवेट करने में अपना योगदान देते हैं ।

कार्यक्रम समन्वयक डॉ0 कपिल नयाल ने बताया की संजय उप्रेती वर्ष में दो बार विद्यालय की अटल टिंकरिंग लैब में अपना व्याख्यान देते हैं तथा साथ ही बच्चों को हैंडस ऑन ट्रेनिंग के माध्यम से नई-नई तकनीकों से रूबरू कराते हैं । उप्रेती प्रतिवर्ष विद्यालय के 4 छात्रों को ₹10000 की छात्रवृत्ति भी प्रदान करते हैं इसके साथ ही समय-समय पर वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजकीय इंटर कॉलेज हवालबाग व राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पौधार के बच्चों को मार्गदर्शन देते हैं।
इस अवसर पर आर्टिफीसियल इंटेलीजेंस विषय पर एक भाषण प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाना है ।

आइबीएम के सीनियर डिजाइन इंजीनियर संजय उप्रेती ने बारहवीं की पढ़ाई जीआईसी अलमोड़ा और ग्रेजुएशन कुमायूँ विश्वविद्यालय अल्मोड़ा केम्पस से किया है । बीएससी के बाद उप्रेती का चयन एटॉमिक एनर्जी के रिसर्च प्रोग्राम के तहत टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च मुम्बई में हुआ उन्होंने अपनी एमएससी की पढ़ाई फिजिक्स के साथ एस्ट्रोनॉमी विषय में पुणे से की ।

उन्होंने कई भारतीय रिसर्च प्रोग्राम्स सहित उच्च शिक्षण संस्थानों में सेवा करने सहित भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में कार्य करना भी शामील है के बाद 1996 में  डनेब रोबोटिक्स जॉइन की। एक साल बाद उन्होंने अमेरिका में प्रतिष्ठित आइबीएम जॉइन किया । संजय  यहां खाली समय मे  स्कूली बच्चों को निशुल्क पढ़ाने जाते हैं । उनका कहना है कि भारत मे बच्चों को नई जानकारियों से अपग्रेड करना आवश्यक है उन्हें दुनिया की जानकारी होनी चाहिए । इसी मकसद और उद्देश्य के साथ उन्हें बच्चों के साथ बिताना अच्छा लगता है । और वह स्कूली बच्चों के साथ अपना समय व्यतीत करते हैं ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क 

, , , , , , , ,
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments