Breaking News

Doctor,s Day 1st july 2022 special report:”अग्रिम मोर्चे पर फैमिली डॉक्टर,थीम के साथ Doctor,s Day सेलिब्रेशन आज. डॉ एन एस बिष्ट का विशेष आलेख पढिये @हिलवार्ता Dehradun : धामी सरकार के 100 दिन पूरे, शिक्षा मित्र और अतिथि शिक्षकों का मानदेय बढ़ा,खबर@हिलवार्ता Uttrakhand:हिमांचल की तर्ज पर राज्य में ग्रीन सेस लगाए जाने की जरूरत, बेतहासा पर्यटक,धार्मिक टूरिस्म प्राकृतिक संसाधनों पर भारी,पढ़ें@हिलवार्ता Haldwani : प्रसिद्ध लोक साहित्यकार स्व मथुरा दत्त मठपाल स्मृति दो दिवसीय कार्यशाला 29-30 जून एमबीपीजी में,100 कुमाउँनी कवियों के कविता संग्रह का होगा विमोचन, खबर@हिलवार्ता Uttrakhand : मानसून ने दी दस्तक, राज्य के मैदानी क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट, मुनस्यारी ने तेज बारिश के बाद सड़क यातायात प्रभावित,खबर@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

·खूब भीड़ भाड़,चारो तरह ट्रैफिक,ट्रैफिक जाम,लेकिन ऐसा क्या हुआ कि अचानक सड़क खाली खाली है जी हां यही हो रहा है पिछले तीन चार दिन से हल्द्वानी में,ऐसा अक्सर तब दिखने में आता है जब कभी साप्ताहिक अवकाश हो या साप्ताहिक बाजार बंदी हो,लेकिन बिना किसी अवकाश/साप्ताहिक बंदी यही नजारा है,इसका कारण गर्मी है इतनी गर्मी जो मई 15 तारीख के बाद से अमूमन होती ही है यह सब अप्रैल में ही हो रहा, बस इसी वजह सड़कें सुनसान हैं.

उत्तराखंड सहित देश के कई हिस्सों में बिगत तीन दिन से अचानक गर्मी का बढ़ गई है इसी वजह लोग घरों से निकलने से बच रहे हैं,यहीं नहीं इस बार देश मे पारा कई हिस्सों में अप्रैल से ही पसीने छुटा रहा है, मध्यप्रदेश के कई इलाकों में पारा 44 डिग्री के आसपास पहुच गया है वहीं मौसम विभाग की माने तो गर्मी का कहर अभी जारी रहने वाला है.

उत्तराखंड के हरिद्वार देहरादून उधमसिंह नगर रुड़की हल्द्वानी तराई भाभर में पारा 40 डिग्री के आसपास पहुच गया है वहीं पहाड़ों में भी 27 से 32 डिग्री तक पारा रिकॉर्ड हुआ है,बताया जा रहा है कि पहाड़ों में भी 2 से 3 डिग्री के आसपास पारा बढ़ने से गर्मी होने लगी है.
तराई भाभर में गर्मी की शुरूवात जिस तरह से हुई है माना जा रहा है कि मई जून तक यह बढ़ोतरी लोगों के लिए परेशानी पैदा करने वाली है,ट्यूबवेल के सहारे अधिकतर शहर में पानी सप्लाई हो रही है बढ़ी हुई गर्मी में पानी का संकट गहरा सकता है,शहर में बिजली की अचानक खपत बढ़ने से पानी बिजली की दिक्कत होने का अंदेशा लगाया जाने लगा है.
·बिजली पानी की मांग और खपत में अंतर को पाटने में विभाग नाकाम रहे हैं इस बार चूंकि गर्मी का प्रकोप जल्दी शुरू हुआ है इसी वजह उत्तराखंड में दोनो विभागों जलसंस्थान और विद्युत विभाग के लिए इस चुनोती से निपटना आसान नहीं होगा.
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta. com