Breaking News

उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता दुख भरी खबर : जम्मू में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद, जम्मू के मेडर में सोमवार से सेना का ऑपरेशन जारी,पूरी खबर@हिलवार्ता हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता नई शिक्षा नीति 2020 के तहत राज्यों में एक अक्टूबर से शुरू हुआ निष्ठा प्रशिक्षण, यूजीसी द्वारा संचालित टीचर्स ओरिएंटेशन रिफ्रेशर कोर्स की तरह है निष्ठा.आइये समझते हैं @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

नई शिक्षा नीति 2020 तक लागू होने में अभी देर है लेकिन इसके प्रचार प्रसार के कार्यक्रम शुरू हो गए हैं अलग अलग जिलों में नीति के प्रसार प्रचार हेतु वेविनारों का आयोजन किया जा रहा है । इसी के तहत भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत फील्डआउटरीच ब्यूरो नैनीताल द्वारा एक वेबीनार का आयोजन किया गया।

जिसमे आज मुख्य वक्ता के रूप में श्री दिनेश कर्नाटक रा इं का गहना के प्रभारी प्रधानाचार्य ने प्रतिभाग करते हुए कहा कि करुणा सहिष्णुता कल्पना नैतिक मूल्य खेल, कला, साहित्य, संगीत पर विशेष ध्यान दिया जाना आवश्यक है । अगर इन सबका समावेश होगा तब नई शिक्षा नीति अच्छा समाज बनाने तथा अच्छा इंसान बनाने मे सहयोग देगी।

दूसरे वक्ता के रूप में राजकीय पॉलिटेक्निक कोटाबाग के बेसिक साइंस के प्रमुख डॉ प्रजापति पलडिया ने अपना वक्तव्य रखते हुए कहा कि बच्चे अपनी भाषा में पढेंगे तो ज्यादा प्रासंगिक होगा उन्होंने यह भी कहा कि हम रोजगार खोजने वाले के जगह रोजगार देने वाले बन सकें तो यह महत्वपूर्ण होगा।

तीसरे वक्ता के रूप में अध्यक्ष मोहन उप्रेती लोक संस्कृति कला एवं विज्ञान शोध समिति हेमन्त जोशी ने कहा कि शिक्षा में हमेशा बदलाव की आवश्यकता होती है कोरोना काल के बाद काफी कुछ बदल जायेगा ऐसे में रोजगारपरक शिक्षा की महती आवश्यकता है उन्होंने कहा कि अगर इस नीति से कोई सकारात्मक रुख सामने आए तो इसका स्वागत है । आज हुए वेविनार कार्यक्रम का संचालन क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो के अधिकारी कलाकार श्री आनंद सिंह बिष्ट द्वारा किया गया ।

इससे पहले पहली अक्टूबर आउट रीच ब्यूरो, द्वारा नैनीताल द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर एक वेबीनार का आयोजन किया जा चुका है,जिसमें 60 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

इस वेबीनार के मुख्य वक्ता प्रसिद्ध कवि ,साहित्यकार एवं कहानीकार हेमंत बिष्ट रहे , हेमन्त बिष्ट ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ग्राम स्वराज की परिकल्पना , खादी ,आश्रम की परिकल्पना , सत्य अहिंसा और त्याग के सिद्धांत पर अपना वक्तव्य रखा।

अगले वक्ता के बतौर राष्ट्रीय शहीद सैनिक विद्यापीठ नैनीताल की प्राचार्या तारा बोरा ने ने कहा कि महात्मा गांधी ने मानव को मानव के साथ ही नहीं अपितु प्रकृति से प्रेम के महत्वता के बारे में विस्तारपूर्वक अपनी बात रखी ।

दो युवा वक्ताओं में, सेंट मेरिज कॉलेज की कक्षा 12 की छात्रा लावण्या बिष्ट तथा डीएसबी केंपस नैनीताल की छात्रा आस्था कोटलिया रही युवाओं ने अपना वक्तव्य देते हुए कहा कि गांधी जी ने महत्वपूर्ण संदेश दिया था कि खुद में वो बदलाव करें अगर आप दुनिया से देखना चाहते हैं,गांधी के कई उद्धरणों को पेश करते हुए लावण्या और आस्था ने कहा है कि हम जैसे सोचते हैं वह हमें वैसा ही बनाता है इसलिए गांधी जी के इन संदेशों को युवाओं को अपने जीवन मे प्रभावी ढंग से अंगीकार करना चाहिए । संचालन क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो कि अधिकारी कलाकार शर्मिष्ठा बिष्ट ने किया।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क रिपोर्ट

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments