Breaking News

उत्तराखंड: मूसलाधार बारिश से खतरा बढ़ा, कई सड़कें बंद, नदी-नाले उफनाए, पर्यटकों की हुई आफत, दिन भर की अपडेट@हिलवार्ता विशेष रपट: पूर्व मुख्यमंत्री स्व नारायण दत्त तिवारी को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी, विशेष श्रद्धांजलि, कल है पूर्व कांग्रेसी नेता का जन्मदिन,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड :महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा का प्रदेश भर के स्कूल बंद का आदेश जारी, 18 को सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूल बंद रहेंगे,पढ़िए@हिलवार्ता मौसम अलर्ट: उत्तराखंड में भी भारी बारिश की आशंका, अलर्ट रहने की हिदायत,जारी हुआ हेल्प लाइन नम्बर,पूरी जानकारी @हिलवार्ता उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

भारत सरकार के डीजी हेल्थ राजीव गर्ग ने राज्य सरकारों और केंद्र शाषित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिवों को यह कहकर चेताया है कि वाल्व लगा हुआ मास्क कोरोना संक्रमित व्यक्ति से वायरस को बाहर आने से नही रोकता है इसलिए यह सुनिश्चित किया जाए कि वाल्व वाले एन 95 मास्क के रिश्क को ध्यान में रखते हुए इसके उपयोग के बजाय बिना वाल्व वाले मास्क ज्यादा सुरक्षित है ।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इसके बजाय कपडे के डबल लेयर मास्क अधिक सुरक्षित है जिनका उपयोग किसी भी तरह के संक्रमण से बचाव कर सकता है ।

डीजी हेल्थ ने राज्यों को चिट्ठी लिखी है कि छिद्र वाले चित्र वाले N 95 मास्क ना पहने जाएं, डीजी हेल्थ का कहना है कि मास्क से कोरोना वायरस का प्रचार नहीं रुकता है । केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का मानना है कि N 95 मास्क हवा में तैर रहे पार्टिकल को अंदर जाने से तो रोकता है लेकिन बाहर आने से नहीं रोकता है ऐसे में इसका प्रयोग कोविड-19 की एडवाइजरी के खिलाफ है और कहा है कि केंद्र सरकार ने अप्रैल में जारी एडवाइजरी का हवाला देते हुए कहा है कि लोग पूरा मुंह ढकने वाला कपड़े का मास्क पहने, जिसे पहनने के बाद गर्म पानी से धोना या नमक के पानी से धोने से किसी तरह के संक्रमण से बचा जा सकता है । ध्यान रहे कि घर में बना हुआ कहीं से भी मुंह को ढकने लायक होना चाहिए ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments