Breaking News

Uttarakhand : पत्रकारिता के क्षेत्र में दिए जाने वाले उमेश डोभाल पुरस्कारों की घोषणा हुई,शोसल,इलेक्ट्रॉनिक,और प्रिंट मीडिया लिए चयनित हुए चार नाम,खबर @हिलवार्ता Special report : देहरादून के दो युवाओं ने बना दिया एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो देगा अंतरराष्ट्रीय सॉफ्टवेयर को टक्कर ,खबर @हिलवार्ता चंपावत उपचुनाव : पुष्कर सिंह धामी ने चंपावत सीट से अपना पर्चा दाखिल किया, सुबह खटीमा में पूजा अर्चना के बाद पहुचे चंपावत खबर @हिलवार्ता Ramnagar : साहित्य अकादमी पुरस्कार से अलंकृत दुधबोली के रचयिता मथुरा दत्त मठपाल की पहली पुण्यतिथि पर जुटे साहित्यकार, कल होगी दुधबोली पर चर्चा,खबर @हिलवार्ता Special Report : राज्य में वनाग्नि के अठारह सौ से अधिक मामले, करोड़ों की वन संपदा खाक,राज्य में वनाग्नि पर वरिष्ठ पत्रकार प्रयाग पांडे की विस्तृत रिपोर्ट @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

भारत सरकार के डीजी हेल्थ राजीव गर्ग ने राज्य सरकारों और केंद्र शाषित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिवों को यह कहकर चेताया है कि वाल्व लगा हुआ मास्क कोरोना संक्रमित व्यक्ति से वायरस को बाहर आने से नही रोकता है इसलिए यह सुनिश्चित किया जाए कि वाल्व वाले एन 95 मास्क के रिश्क को ध्यान में रखते हुए इसके उपयोग के बजाय बिना वाल्व वाले मास्क ज्यादा सुरक्षित है ।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इसके बजाय कपडे के डबल लेयर मास्क अधिक सुरक्षित है जिनका उपयोग किसी भी तरह के संक्रमण से बचाव कर सकता है ।

डीजी हेल्थ ने राज्यों को चिट्ठी लिखी है कि छिद्र वाले चित्र वाले N 95 मास्क ना पहने जाएं, डीजी हेल्थ का कहना है कि मास्क से कोरोना वायरस का प्रचार नहीं रुकता है । केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का मानना है कि N 95 मास्क हवा में तैर रहे पार्टिकल को अंदर जाने से तो रोकता है लेकिन बाहर आने से नहीं रोकता है ऐसे में इसका प्रयोग कोविड-19 की एडवाइजरी के खिलाफ है और कहा है कि केंद्र सरकार ने अप्रैल में जारी एडवाइजरी का हवाला देते हुए कहा है कि लोग पूरा मुंह ढकने वाला कपड़े का मास्क पहने, जिसे पहनने के बाद गर्म पानी से धोना या नमक के पानी से धोने से किसी तरह के संक्रमण से बचा जा सकता है । ध्यान रहे कि घर में बना हुआ कहीं से भी मुंह को ढकने लायक होना चाहिए ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments