Breaking News

उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता दुख भरी खबर : जम्मू में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद, जम्मू के मेडर में सोमवार से सेना का ऑपरेशन जारी,पूरी खबर@हिलवार्ता हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता नई शिक्षा नीति 2020 के तहत राज्यों में एक अक्टूबर से शुरू हुआ निष्ठा प्रशिक्षण, यूजीसी द्वारा संचालित टीचर्स ओरिएंटेशन रिफ्रेशर कोर्स की तरह है निष्ठा.आइये समझते हैं @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

2013 उत्तराखंड के केदारनाथ में आई भीषण आपदा में करीब 4200 लोग लापता हुए थे जिनमें से करीब 600 लोगों को ही ढूंढा जा सका शेष करीब 3600 लोगों के परिजन आज तक अपनों की किसी तरह की जानकारी से अनभिज्ञ हैं । तत्कालीन उत्तराखंड सरकार ने आपदा के कुछ समय बाद श्रद्धालुओं को ढूढने का काम रोक दिया था ।

आज नैनीताल हाईकोर्ट में दिल्ली निवासी याचिकाकर्ता अजय गौतम की इसी मामले में याचिका पर सुनवाई हुई, मामले की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश रवि मलिथम न्यायमूर्ति एन एस धनिक की खंडपीठ में हुई जहां दोनो न्यायाधीशों ने सुनवाई करते हुए सरकार को निर्देशित किया कि पुरातात्विक विभाग, सर्वे ऑफ इंडिया, वाडिया इंस्टिट्यूट, एवम हिमालयन जियोलॉजी के विशेषज्ञों की एक टीम अविलंब गठित की जाए । कमेटी रिपोर्ट को पब्लिक डोमेन में सार्वजनिक करे जिससे कि इस मामले में लोगों को सही तथ्यात्मक जानकारी प्राप्त हो सके ।

याचिकाकर्ता अजय गौतम ने आज माननीय हाईकोर्ट को अवगत कराते हुए कहा था कि आपदा के बाद केदार घाटी में से करीब 4200 लोग लापता हो गए थे जिसमें से 600 लोगो के कंकाल बरामद करे गए थे आपदा के बाद घाटी में आज भी 3600 लोग दफन हैं जिन्हें किसी तरह ढूढ़कर निकाला जाना चाहिए जिससे कि उनके परिवारीजन उनका अंतिम संस्कार कर सके।अजय गौतम ने बताया कि इन लोगों को निकालने के लिए उत्तराखंड सरकार कोई कार्य नही कर रही है,लिहाजा याचिका में मांग की गई कि सरकार को निर्देश जारी किया जाए । कोर्ट ने सुनवाई के बाद सरकार को कार्यवाही के लिए निर्देश जारी किए । इधर सरकारी प्रतिनिधि की तरफ से कोर्ट द्वारा जारी निदेशों पर जल्द कार्यवाही का भरोसा कोर्ट को दिया है ।


हिलवार्ता न्यूज डेस्क

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments