Breaking News

उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता दुख भरी खबर : जम्मू में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद, जम्मू के मेडर में सोमवार से सेना का ऑपरेशन जारी,पूरी खबर@हिलवार्ता हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता नई शिक्षा नीति 2020 के तहत राज्यों में एक अक्टूबर से शुरू हुआ निष्ठा प्रशिक्षण, यूजीसी द्वारा संचालित टीचर्स ओरिएंटेशन रिफ्रेशर कोर्स की तरह है निष्ठा.आइये समझते हैं @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड में कल रात से ही बारिश हो रही है जिसके चलते कुमायूँ में पर्वतीय जिलों अलमोड़ा पिथौरागढ़ चंपावत बागेश्वर के अधिकतर इलाकों में भारी बर्फबारी हुई है।यहां आज सुबह से ही बर्फ गिरना शुरू हो गई,अलमोड़ा जिले के शहर फाटक,लमगड़ा,चायखान, पिथौरागढ़ के धारचूला ,मुनस्यारी,कमेड़ी देवी,कपकोट भराड़ी शामा,सहित उच्च हिमालयी क्षेत्र,चंपावत के देवीधुरा,केदार,लोहाघाट,पाटी ब्लॉक में भारी वर्फबारी हुई है नैनीताल जिले के मुख्यालय मुक्तेश्वर रामगढ़ पहाड़पानी,में जमकर वर्फ़ गिरने के चलते धनाचूली शहर फाटक देवीधुरा मार्ग बंद हो गया है ।

रामगढ़ नैनीताल के सेव का बगीचा वर्फबारी के बाद,

गढ़वाल के उच्च हिमालयी क्षेत्रों सहित उत्तरकाशी और चमोली के ऊँचाई वाले इलाकों में बर्फवारी हुई है लगातार बारिस से, त्यूणी,चकराता सहित पुरोला की ऊंचाइयों तक वर्फवारी की उम्मीद है वहीं उखीमठ,गैरसैण,लैंसडौन, चंबा, में वर्फवारी के समाचार मिल रहे है ।उत्तरकाशी,पौड़ी,चमोली जिले की ऊंची पहाड़ियों पर वर्फबारी होने को है। इस वर्ष का कुमायूँ के निचले इलाकों में हुआ यह पहला हिमपात है जिसे फल बागवानी के लिए अच्छा बताया जा रहा है ,मौसम चक्र में हो रहे परिवर्तन के कारण पर्वतीय क्षेत्रों में इस बार लंबे समय बाद दिसम्बर माह में वर्फवारी हुई है जिसे काश्तकारों के हित मे माना जाता है । इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च के डायरेक्टर जनरल त्रिलोचन महापात्र ने बताया कि यह बारिश सही समय पर हुई है. इससे गेहूं, चना, सरसों और रबी की अन्य फसलों को लाभ होगा.

हिलवार्ता न्यूज डेस्क