Breaking News

Big breaking:2023 के बाद Johnson & Johnson टेल्क पाउडर होगा बाजारों से गायब, पाउडर में कैंसर के लिए जिम्मेदार अवयव मिलने के बाद भरना पड़ा भारी जुर्माना,पूरी खबर पढिये@हिलवार्ता Good initiative : रामनगर स्थित public school ने उत्तराखंड के आजादी के नायकों की फ़ोटो गैलरी बनाकर की मिशाल कायम,खबर विस्तार से@हिलवार्ता Big Breaking: उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन ने commenwealth games का स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : दुखद खबर: उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हरीश पाठक का निधन, पूरी जानकारी @हिलवार्ता Haldwani धरना अपडेट :सिटी मजिस्ट्रेट का आश्वासन, एक हप्ते में होगा समाधान ,जलभराव से निजात के लिए चल रहा धरना स्थगित,विधायक भी पहुँचे धरनास्थल,खबर@ हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

फिल्मी दुनिया का राजनीतिक मोह नया नहीं हैं, आजादी के बाद जितने भी लोकसभा चुनाव हुए हैं उनमें कुछ गिने चुने फिल्मी नाम जरूर दिखाई पड़ते थे अबकी बड़ी संख्या में राजनीतिक दलों ने इनपर दांव खेला है,राजनीतिक दलों को जिताऊ कैंडिडेट चाहिए इसी वजह फिल्मी दुनियां राजनीति की पहली पसंद बनते जा रही है.
आइये देखते हैं 2019 में कौन कौन बड़ा स्टार कहाँ से चुनाव लड़ रहा है- भाजपा ने टीवी एक्टर स्मृति ईरानी को अमेठी से दुबारा मैदान फतह करने उतारा है वहीं गायक मनोज तिवारी दक्षिण पश्चिम दिल्ली से भोजपुरी अदाकार रवि किशन गोरखपुर,हेमामालनी मथुरा,सनी देओल गुरुदासपुर, हंस राज हंस पश्चमी दिल्ली,जया प्रदा रामपुर,दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ को आजमगढ़,बाबुल सुप्रियो आसनसोल से भाजपा का टिकट पाने में कामयाब रहे.
वहीं कांग्रेस ने शत्रुघ्न सिन्हा को पटना साहिब, मुनमुन सेन को आसनसोल,मुंबई नार्थ से उर्मिला मातोंडकर पर भरोषा जता टिकट दिया है,निखिलगौड़ा कांग्रेस जेडीएस के संयुक्त उम्मीदवार हैं,लखनऊ से पूनम सिन्हा एसपी बीएसपी के गठबंद्धन की उम्मीदवार हैं, केरल में यूडीएफ के उम्मीदवार के तौर पर मैदान में हैं,मिमी चक्रवर्ती बंगाली कलाकार हैं उन्हें टीएमसी ने बासिरहाट से टिकट दिया है,वहीं कन्नड़ के नामी कलाकार प्रकाश राज स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में बेंगलुरु से चुनाव लड़ रहे हैं,इनोसेंट केरल के बड़े कलाकार हैं इन चुनावों में लोकसभा पहुचने की दौड़ में शामिल हैं.
अगर चुनाव लड़ रहे सभी फिल्मी अदाकार जीत जाते हैं तो यह अपने आप में अलग तस्वीर पेश करने जा रहा है जहाँ सहित्यकारों पत्रकारों की जगह फिल्मी अदाकार देश की मूलभूत समस्याओं से निजात दिलाने के लिए संसद में हाजिर रहेंगे.
देखना होगा कि इन दो दर्जन से अधिक बड़े फिल्मी कलाकारों का सफर खाँटी राजनीति के धुरंधर किस तरह रोक पाते हैं,राजनीति का गणित किन किन अदाकारों को लोकसभा की चौखट तक पहुचने देता है.
ओपी पाण्डेय
@एडीटीर्स डेस्क
Hillvarta.com