Breaking News

उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता दुख भरी खबर : जम्मू में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद, जम्मू के मेडर में सोमवार से सेना का ऑपरेशन जारी,पूरी खबर@हिलवार्ता हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता नई शिक्षा नीति 2020 के तहत राज्यों में एक अक्टूबर से शुरू हुआ निष्ठा प्रशिक्षण, यूजीसी द्वारा संचालित टीचर्स ओरिएंटेशन रिफ्रेशर कोर्स की तरह है निष्ठा.आइये समझते हैं @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

पिथौरागढ़ राष्ट्रीय कैडेट कोर( एनसीसी) का 11 दिवसीय पर्वतारोहण प्रशिक्षण कार्यक्रम आज सम्पन्न हो गया आज समापन दिवस पर आयोजक संस्था आइस और एनसीसी के ऑफिसियल ने कार्यक्रम के सफलतापूर्वक संपन्न होने पर खुसी जाहिर की, साथ ही ट्रेनिंग का हिस्सा रहे कैडिटों के प्रशिक्षकों को समान्नित किया गया ।

प्रशिक्षण कार्यक्रम 23 दिसम्बर 2019 से 3 जनवरी 2020 तक आयोजित किया गया । जिसमे देश के 12 राज्यों के 521 कैडेटों ने प्रतिभाग किया ।

पिथौरागढ़ जनपद की साहसिक खेलों में अग्रणी संस्था इंटर्नशिप क्लाइंबर्स एंड एक्सप्लोरर्स( आइस )ने इस प्रशिक्षण का आयोजन किया था, एनसीसी के देश भर के आठ डायरेक्टरेट जो कि 12 राज्यो का प्रतिनिधित्व करते हैं द्वारा इस शिविर में प्रतिभाग किया गया । बिहार, दिल्ली, झारखंड, गुजरात,जम्मू कश्मीर ,पंजाब हरियाणा, हिमाचल ,चंडीगढ़, राजस्थान और उतराखण्ड के कैडिटों को इसमें प्रशिक्षण दिया गया , शिविर में विशेष रूप से बोर्डिंग,आर्टिफिशियल वाल कॉम्बिंग, जुमरिंग,रैम्पलिंग,रिवर राफ्टिंग,रिवर क्रासिंग,प्राथमिक चिकित्सा सहित पर्वतारोहण के दौरान प्रयुक्त उपकरणों के संदर्भ में जानकारी दी गई इसके अलावा विभिन्न प्रकार की नॉट लगाना,और साहसिक खेलों की विस्तृत जानकारी प्रशिक्षण के दौरान प्रतिभागियों को दी गई ।

आज समापन समारोह के अवसर पर एडीजी मेजर जनरल सुधीर चहल, ग्रुप कमांडर एस एस बहल, लेफ्टीनेंट कर्नल एच वी गुरुंग ने प्रशिक्षार्थियों को संबोधित किया और कहा कि साहसिक खेल प्रत्येक व्यक्ति के जीवन मे विशेष महत्व रखते हैं,सभी युवाओं को इस तरह की ट्रेनिंग से अवश्य रूबरू होना चाहिए, इस तरह का प्रशिक्षण युवाओं में आत्मविश्वास पैदा करता है और जीवन पर्यंत उनके किसी भी तरह परिस्थितियों से निजात दिलाने में कारगर होता है ।

मेजर जनरल सुधीर ने कहा कि पूरा प्रशिक्षण कार्यक्रम बिना किसी प्रतिभागी को किसी तरह की शारीरक क्षति के बिना सम्पन्न होना उनके ट्रेनरों की क्षमता को प्रदर्शित करने को काफी है । यह बेहतरीन ट्रेनिग साबित साबित हुई है,उन्होंने आइस संस्था का इस प्रशिक्षण शिविर में योगदान का जिक्र करते हुए कहा कि उनके सहयोग वगैर यह सम्भव नही था । कार्यक्रम के अंतिम में इस पूरे प्रशिक्षण में बतौर प्रशिक्षक/सहयोगियों को सम्मान पत्र देकर समान्नित किया गया जिसमें बासु पांडे,चंचल प्रसाद,कुमारी नंदा,मुकेश गिरी, सुभम कार्की,अनुपम बेरी,हरीश कुमार,हरीश ऐठानी, हरीश खत्री,लोकेश पवार,पवन कुमार,दीपिका टोलिया,काजल,सहितआँचल, को अधिकारियों ने प्रशस्ति पत्र दिया।

आइस संस्था के अध्यक्ष पत्रकार जगदीश कलौनी ने कुशलता पूर्वक प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न होने पर प्रशिक्षणार्थियों और सहयोगियों का आभार जताया और आशा जताई कि इस तरह के कार्यक्रमों से युवाओं में आत्मविश्वास पैदा होगा ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क