Breaking News

Uttarakhand : पत्रकारिता के क्षेत्र में दिए जाने वाले उमेश डोभाल पुरस्कारों की घोषणा हुई,शोसल,इलेक्ट्रॉनिक,और प्रिंट मीडिया लिए चयनित हुए चार नाम,खबर @हिलवार्ता Special report : देहरादून के दो युवाओं ने बना दिया एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो देगा अंतरराष्ट्रीय सॉफ्टवेयर को टक्कर ,खबर @हिलवार्ता चंपावत उपचुनाव : पुष्कर सिंह धामी ने चंपावत सीट से अपना पर्चा दाखिल किया, सुबह खटीमा में पूजा अर्चना के बाद पहुचे चंपावत खबर @हिलवार्ता Ramnagar : साहित्य अकादमी पुरस्कार से अलंकृत दुधबोली के रचयिता मथुरा दत्त मठपाल की पहली पुण्यतिथि पर जुटे साहित्यकार, कल होगी दुधबोली पर चर्चा,खबर @हिलवार्ता Special Report : राज्य में वनाग्नि के अठारह सौ से अधिक मामले, करोड़ों की वन संपदा खाक,राज्य में वनाग्नि पर वरिष्ठ पत्रकार प्रयाग पांडे की विस्तृत रिपोर्ट @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

देव प्रयाग में उत्तराखंड के मुख्य न्यायाधीश के गंगा में उतरते हुए पैर फिसल गया । वहां मौजूद सुरक्षाधिकारी और मौजूद लोगों की मुस्तेदी के चलते न्यायमूर्ति को किसी तरह से सुरक्षित कर लिया गया ।

सूत्रों से ज्ञात हुआ कि उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन कल मसूरी में कार्यक्रम में प्रतिभाग करने के लिए गए हुए हैं आज वह तय कार्यक्रमों के तहत कुछ समय लिए प्रातः 11 बजे देवप्रयाग पहुचे जहां उन्होंने स्थानीय प्रसिद्ध रघुनाथ मंदिर के दर्शन किए ।

आपको बताना है कि संगम तट पर गंगा में उतरते हुए न्यायमूर्ति का अचानक पैर फिसल गया , न्यायमूर्ति जैसे ही घाट की सीढ़ी में उतरे वहां अचानक उनका पांव फिसल गया तुरंत ही उनके पीछे खड़े सीओ नरेंद्र नगर श्री प्रमोद साह ने उनकी कमर की बेल्ट पकड़ न्यायमूर्ति को ऊपर खींच लिया गया ।

बाल बाल बचे हाईकोर्ट नैनीताल के मुख्य न्यायाधीश । सीओ प्रमोद साह ने गंगा घाट की सीढ़ियों से खींचकर बचाया ।

सीओ नरेंद्र नगर श्री प्रमोद साह सहित प्रशासनिक अमला आज न्यायमूर्ति की अगवानी के लिए वहां मौजूद रहा। इस घटना के बाद न्यायमूर्ति को वहां से सकुशल उनके गंतब्य को विदा किया गया । अधिकारियों और मंदिर प्रशासन ने राहत की सांस ली । ज्ञात रहे कि जहां न्यायमूर्ति का पैर फिसला उस जगह गंगा का बहाव बहुत तेज था लिहाजा बड़ी दुर्घटना भी हो सकती थी ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क