Breaking News

उत्तराखंड: मूसलाधार बारिश से खतरा बढ़ा, कई सड़कें बंद, नदी-नाले उफनाए, पर्यटकों की हुई आफत, दिन भर की अपडेट@हिलवार्ता विशेष रपट: पूर्व मुख्यमंत्री स्व नारायण दत्त तिवारी को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी, विशेष श्रद्धांजलि, कल है पूर्व कांग्रेसी नेता का जन्मदिन,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड :महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा का प्रदेश भर के स्कूल बंद का आदेश जारी, 18 को सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूल बंद रहेंगे,पढ़िए@हिलवार्ता मौसम अलर्ट: उत्तराखंड में भी भारी बारिश की आशंका, अलर्ट रहने की हिदायत,जारी हुआ हेल्प लाइन नम्बर,पूरी जानकारी @हिलवार्ता उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

देव प्रयाग में उत्तराखंड के मुख्य न्यायाधीश के गंगा में उतरते हुए पैर फिसल गया । वहां मौजूद सुरक्षाधिकारी और मौजूद लोगों की मुस्तेदी के चलते न्यायमूर्ति को किसी तरह से सुरक्षित कर लिया गया ।

सूत्रों से ज्ञात हुआ कि उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन कल मसूरी में कार्यक्रम में प्रतिभाग करने के लिए गए हुए हैं आज वह तय कार्यक्रमों के तहत कुछ समय लिए प्रातः 11 बजे देवप्रयाग पहुचे जहां उन्होंने स्थानीय प्रसिद्ध रघुनाथ मंदिर के दर्शन किए ।

आपको बताना है कि संगम तट पर गंगा में उतरते हुए न्यायमूर्ति का अचानक पैर फिसल गया , न्यायमूर्ति जैसे ही घाट की सीढ़ी में उतरे वहां अचानक उनका पांव फिसल गया तुरंत ही उनके पीछे खड़े सीओ नरेंद्र नगर श्री प्रमोद साह ने उनकी कमर की बेल्ट पकड़ न्यायमूर्ति को ऊपर खींच लिया गया ।

बाल बाल बचे हाईकोर्ट नैनीताल के मुख्य न्यायाधीश । सीओ प्रमोद साह ने गंगा घाट की सीढ़ियों से खींचकर बचाया ।

सीओ नरेंद्र नगर श्री प्रमोद साह सहित प्रशासनिक अमला आज न्यायमूर्ति की अगवानी के लिए वहां मौजूद रहा। इस घटना के बाद न्यायमूर्ति को वहां से सकुशल उनके गंतब्य को विदा किया गया । अधिकारियों और मंदिर प्रशासन ने राहत की सांस ली । ज्ञात रहे कि जहां न्यायमूर्ति का पैर फिसला उस जगह गंगा का बहाव बहुत तेज था लिहाजा बड़ी दुर्घटना भी हो सकती थी ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क