Breaking News

उत्तराखंड: मूसलाधार बारिश से खतरा बढ़ा, कई सड़कें बंद, नदी-नाले उफनाए, पर्यटकों की हुई आफत, दिन भर की अपडेट@हिलवार्ता विशेष रपट: पूर्व मुख्यमंत्री स्व नारायण दत्त तिवारी को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी, विशेष श्रद्धांजलि, कल है पूर्व कांग्रेसी नेता का जन्मदिन,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड :महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा का प्रदेश भर के स्कूल बंद का आदेश जारी, 18 को सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूल बंद रहेंगे,पढ़िए@हिलवार्ता मौसम अलर्ट: उत्तराखंड में भी भारी बारिश की आशंका, अलर्ट रहने की हिदायत,जारी हुआ हेल्प लाइन नम्बर,पूरी जानकारी @हिलवार्ता उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

तमाम तरह की परेशानियां झेल रहे मजदूरों के लिए आज देश के सर्वोच्च न्यायालय ने स्वतः संज्ञान लेकर केंद्र सरकार व सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी कर इस पर गुरुवार तक जवाब देने का आदेश दिया है.

भरी गर्मी पैदल चल रहे मजदूर तमाम तरह की दिक्कतों से जूझ रहे हैं मीडिया रिपोर्ट्स से संज्ञान ले आज कोर्ट ने कहा कि केंद्र और राज्य मजदूरों की देखरेख का इंतजाम करें

माननीय कोर्ट ने माना है कि घरों को वापस जा रहे हैं मजदूरों की मदद के लिए केंद्र और राज्य सरकार के इंतजाम नाकाफी हैं कहा कि पैदल चल रहे मजदूरों को उनके घर तक छोड़ने की व्यवस्था राज्य सरकारों और केंद्र को तुरंत करनी चाहिए साथ ही उनके भोजन की व्यवस्था का भी जिम्मा सरकार का है जिसे पूर्ण किया जाना चाहिए यही नही उनको घर छोड़ने के लिए किसी तरह का किराया भाड़ा नही लेने को कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा ऐसे मजदूरों और उनके परिवार के लोगों को उनके घर तक पहुंचाने तक मुफ्त यात्रा, आश्रय और भोजन की सुविधा प्रदान करने के लिए तत्काल उपाय किए जाने की आवश्यकता है.

सुप्रीम कोर्ट इस मुद्दे पर दोबारा सुनवाई गुरुवार को करेगा ।सुनवाई जस्टिस अशोक भूषण जस्टिस संजय किशन कौल जस्टिस एमआर शाह की बेंच द्वारा की गई ।

मीडिया में आ रही खबरों को आधार बनाकर स्वतः संज्ञान ले आज कोर्ट ने साहसिक निर्णय किया । दरदर की ठोकरें खा रहे मजदूरों के लिए यह देर सबेर राहत भरी खबर है ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क