Breaking News

उत्तराखंड: मूसलाधार बारिश से खतरा बढ़ा, कई सड़कें बंद, नदी-नाले उफनाए, पर्यटकों की हुई आफत, दिन भर की अपडेट@हिलवार्ता विशेष रपट: पूर्व मुख्यमंत्री स्व नारायण दत्त तिवारी को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी, विशेष श्रद्धांजलि, कल है पूर्व कांग्रेसी नेता का जन्मदिन,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड :महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा का प्रदेश भर के स्कूल बंद का आदेश जारी, 18 को सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूल बंद रहेंगे,पढ़िए@हिलवार्ता मौसम अलर्ट: उत्तराखंड में भी भारी बारिश की आशंका, अलर्ट रहने की हिदायत,जारी हुआ हेल्प लाइन नम्बर,पूरी जानकारी @हिलवार्ता उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। कल हल्द्वानी भीमताल रोड पर चंदादेवी के पास हुए मर्डर की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है पुलिस अधीक्षक नैनीताल के हवाले से बताया गया है कि पुलिस ने नाजिम हत्याकांड का घटना के 11 घंटे के भीतर खुलासा करते हुए हत्यारोपी और इस पूरे कांड की साजिश शामिल आरोपियों को शाम मीडिया के सामने पेश किया गया है ।

पुलिस ने हत्यारोपी से हत्या में प्रयुक्त 315 बोर का एक तमंचा व खून से सने कपड़े भी बरामद किए हैं, भीमताल थाने में पत्रकारों को अवगत कराते हुए एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने बताया कि मामले के खुलासे हेतु पुलिस की दो टीमें बनाई गई थीं,जिन्होंने 11 घण्टे के भीतर दोनों आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की .

बताया गया कि हत्यारोपी नवाबी रोड निवासी राधेश्याम ने इस हत्यकांड के लिए प्रयुक्त बाइक भी बरामद कर ली है जिसका नवम्बर यूके 04 x 4608 है । हत्या के संदर्भ में जानकारी देते हुए बताया कि नाजिम और आरोपी महिला के बीच प्रेम प्रसंग के चलते इस घटना को अंजाम दिया गया है बताया जा रहा है मृतक नाजिम से उक्त महिला उसकी शादी हो जाने के बाद भी नजदीकी बरकरार थी चूंकि इस बीच उसका बाल्मीकि कालोनी नबाबी रोड निवासी राधेश्याम पुत्र सोहनलाल से प्रेम हो गया और यह बात नए प्रेमी को पसंद नहीं थी जिस कारण दोनो ने नाजिम को रास्ते से हटाने का प्लान तैयार किया और नाजिम को गोली मार दी ।

एसएसपी ने बताया कि पुलिस टीम में एसओ कैलाश चंद्र जोशी, उप निरीक्षक राजेंद्र सिंह, प्रदीप कुमार, सिपाही धमेंद्र मेहता, भरत सिंह, चंदन सिंह, दीवान सिंह, पूनम राणा, पुष्पेंद्र सिंह रावत, बृजेश सिंह, जगदीश सिंह, एसओजी प्रभारी दिनेश पंत, सिपाही कुंदन कठैत, त्रिलोक रौतेला, रियाज अख्तर, अनिल गिरी आदि शामिल रहे ।

हालिया भुप्पी पांडे हत्याकांड के बाद पुलिस की किरकिरी हो रही थी पिछले साल से पूनम हत्याकांड सहित अन्य मामलों में खुलासा नहीं कर पाने पर नैनीताल पुलिस भारी दबाव में है इस कांड के खुलासे में पुलिस को जल्द सफलता मिली है उम्मीद की जानी चाहिए कि पुलिस तत्परता से पिछले मामलों का निपटारा करेगी और यह भी तस्दीक करेगी कि हत्या में प्रयुक्त अवैध हथियार आखिर कहां से आ रहे हैं भुप्पी पांडे और नाजिम हत्याकांड के बाद यह सवाल उठने लगे हैं कि जिले में हथियारों की छानबीन भी उतनी ही जरूरी है जितना अपराध को रोकना ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क