Breaking News

उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता दुख भरी खबर : जम्मू में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद, जम्मू के मेडर में सोमवार से सेना का ऑपरेशन जारी,पूरी खबर@हिलवार्ता हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता नई शिक्षा नीति 2020 के तहत राज्यों में एक अक्टूबर से शुरू हुआ निष्ठा प्रशिक्षण, यूजीसी द्वारा संचालित टीचर्स ओरिएंटेशन रिफ्रेशर कोर्स की तरह है निष्ठा.आइये समझते हैं @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने अल्मोडा कैंपस में भौतिकी विभाग के प्रोफ़ेसर डॉ ओ.पी.एस नेगी को उतराखंड मुक्त विश्वविद्यालय का आठवा कुलपति नियुक्त किया है .वर्तमान में कुमायु विश्वविद्यालय के कुलपति के प्रो.डी .के .नौरियाल कुलपति की अतिरिक्त जिम्मेदारी सम्हाल रहे थे .प्रोफ़ेसर नौरियाल पूर्व कुलपति प्रो.नागेश्वर राव के इंदिरा गाँधी मुक्त विश्विद्यालय के चले जाने के बाद से इस जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे थे .

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता

उतराखंड मुक्त विश्वविद्यालय को विगत वर्ष कुमायु विश्वविद्यालय से व्यक्तिगत परीक्षाओ का जिम्मा मिलने के बाद पूर्णकालिक कुलपति की प्रतीक्षा की जा रही थी जिससे प्रशासनिक और शेक्षिक मौहोल सुचारू हो सके .

वर्ष 2005 में अस्तित्व में आये मुक्त विश्वविद्यालय में प्रो . नेगी आठवें कुलपति के रूप में नियुक्ति से पहले अल्मोड़ा परिसर में भौतिक विभाग में अपनी सेवाएं दे रहे थे प्रो. नेगी उतराखंड के टेहरी गढ़वाल के मूल निवासी हैं उन्होंने जुलाई 1986 में असिस्टेंट प्रो. के तौर पर अपने करियर की सुरुवात की .

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता

उतराखंड मुक्त विश्वविद्यालय द्वारा संचालित रिजनल सेंटरों पर साफ़ सुथरी परीक्षा करवाना ,नियमित फैकल्टी की नियुक्ति ,फीस नियंत्रण जैसी समस्याओं से कुलपति को दो चार होना पड़ेगा .लम्बे समय से कुमायु विश्वविद्यालय से जुड़े होने की वजह कुलपति प्रो. नेगी से उतराखंड के सुदूर पर्वतीय छेत्रों में शिक्षा के बेहतर प्रसार की उम्मीद की जा सकती है .

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता

news desk 13 / hillvarta