Breaking News

Big breaking:2023 के बाद Johnson & Johnson टेल्क पाउडर होगा बाजारों से गायब, पाउडर में कैंसर के लिए जिम्मेदार अवयव मिलने के बाद भरना पड़ा भारी जुर्माना,पूरी खबर पढिये@हिलवार्ता Good initiative : रामनगर स्थित public school ने उत्तराखंड के आजादी के नायकों की फ़ोटो गैलरी बनाकर की मिशाल कायम,खबर विस्तार से@हिलवार्ता Big Breaking: उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन ने commenwealth games का स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : दुखद खबर: उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हरीश पाठक का निधन, पूरी जानकारी @हिलवार्ता Haldwani धरना अपडेट :सिटी मजिस्ट्रेट का आश्वासन, एक हप्ते में होगा समाधान ,जलभराव से निजात के लिए चल रहा धरना स्थगित,विधायक भी पहुँचे धरनास्थल,खबर@ हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

देहरादून : वर्ष 2021 के लिए राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी द्वारा आज यहां शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य कर रहे शिक्षकों को सम्मानित किया गया । राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी (NASI) द्वारा दिया जाने वाला वर्ष 2021 का उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान राजीव गांधी नवोदय विद्यालय खटीमा ऊधम सिंह नगर के शिक्षक निर्मल कुमार न्योलिया को दिया गया है । वर्ष 2021 उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान आज 22 जून 2022 को 15 वी व 16वीं उत्तराखंड राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी कांग्रेस कार्यशाला में प्रदान किया गया ।

इस कार्यक्रम में सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहे । कार्यक्रम में सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी सौजन्या, महानिदेशक यूकॉस्ट डॉ राजेंद्र डोभाल, आईएचबीटी पालमपुर के निदेशक डॉ संजय कुमार सहित ग्राफ़िक इरा के चेयरमैन उपस्थित रहे । NASI द्वारा देशभर से आमंत्रित वैज्ञानिको व प्रतिभागी शोध कर्ताओं की उपस्थिति में निर्मल को यह सम्मान दिया गया । ज्ञात रहे कि उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान विज्ञान शिक्षा में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया जाता है । न्योलिया के कार्यों को देखते हुए NASI ( नासी) चयन किया है । NASI द्वारा निर्मल कार्यों के लिए सराहना की गई । करते हुए कहा गया कि उनके द्वारा माध्यमिक शिक्षा में शोध को बढ़ावा देने, बच्चों के बीच विज्ञान को रुचि पूर्ण बनाने, अनुभव आधारित बाल विज्ञान गतिविधियां, परियोजना कार्य, समाज में किसी समस्या के समाधान हेतु नवाचारी विचार, मॉडलिंग एवं विज्ञान शिक्षा में साहित्य के इस्तेमाल को लेकर विशेष योगदान रहा है।

निर्मल मूल रूप से न्योलियासेरा, पिथौरागढ़ के निवासी है निर्मल ने प्राथमिक शिक्षा सेराघाट व गणाई गंगोली एवम अल्मोड़ा, नैनीताल से उच्च शिक्षा प्राप्त की और साथ ही सीएसआईआर- सीमैप लखनऊ से शोध कार्य किया है ।
निर्मल न्योलिया ने 10 वर्ष राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज चौबाटी, पिथौरागढ़ में जीव विज्ञान का अध्यापन किया है वह स्कूल में विपनेट विज्ञान क्लब की स्थापना, कल्चरल क्लब की स्थापना कर चुके हैं ।

पिछले 5 वर्षों से वह ऊधम सिंह नगर जिले के नवोदय विद्यालय में कार्य के साथ राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के अकादमिक समन्वयक, राज्य व जिला विज्ञान अकादमिक संदर्भ समूह सदस्य हैं । हिलवार्ता से बात करते हुए निर्मल ने बताया कि वर्तमान में नई शिक्षा नीति के पश्चात राष्ट्रीय पाठ्यचर्या के लिए ‘स्टेट करिकुलम फ्रेमवर्क- साइंस’ के मेंबर सचिव के तौर पर कार्य कर रहे हैं ।

उन्होंने 15 वर्ष के शिक्षण कार्य के दौरान 110 बच्चों के साथ व्यक्तिगत तौर पर विज्ञान आधारित कार्यक्रम में मार्गदर्शन किया है। जिसमें अधिकांश बच्चे विज्ञान व तकनीक से जुड़े क्षेत्र को प्रोफेशन के तौर पर चुने। जिनमे कुछ बच्चो को राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर ऐसे मंच उपलब्ध हुए जहां नए कौशल सीखने का मंच मिला ।

निर्मल का मानना है कि भविष्य में विज्ञान शिक्षा को लेकर एक ऐसा हाइब्रिड मोड विकसित करने का विचार है जिस मंच पर कोई जरूरतमंद बच्चे निर्धारित कांसेप्ट पर अपनी समस्या का समाधान पा सकते हैं।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क की रिपोर्ट

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments