Breaking News

Doctor,s Day 1st july 2022 special report:”अग्रिम मोर्चे पर फैमिली डॉक्टर,थीम के साथ Doctor,s Day सेलिब्रेशन आज. डॉ एन एस बिष्ट का विशेष आलेख पढिये @हिलवार्ता Dehradun : धामी सरकार के 100 दिन पूरे, शिक्षा मित्र और अतिथि शिक्षकों का मानदेय बढ़ा,खबर@हिलवार्ता Uttrakhand:हिमांचल की तर्ज पर राज्य में ग्रीन सेस लगाए जाने की जरूरत, बेतहासा पर्यटक,धार्मिक टूरिस्म प्राकृतिक संसाधनों पर भारी,पढ़ें@हिलवार्ता Haldwani : प्रसिद्ध लोक साहित्यकार स्व मथुरा दत्त मठपाल स्मृति दो दिवसीय कार्यशाला 29-30 जून एमबीपीजी में,100 कुमाउँनी कवियों के कविता संग्रह का होगा विमोचन, खबर@हिलवार्ता Uttrakhand : मानसून ने दी दस्तक, राज्य के मैदानी क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट, मुनस्यारी ने तेज बारिश के बाद सड़क यातायात प्रभावित,खबर@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी : यहां कठघरिया स्थित Col. Rawals Military Acadamy के तीन छात्रों ने वर्ष 2022 की सीडीएस परीक्षा पास की है । संस्थान के छात्र हिमांशु पांडे ने आल इंडिया रैंकिंग में पहला स्थान प्राप्त किया है हिमांशु अकेडमी में कड़ी मेहनत कर रहे थे ।

फ़ोटो .सीडीएस 2022 पहली रैंक प्राप्त हिमांशु पांडेय

कर्नल देवेंद्र रावल अकेडमी में आईएमए ओटीएस और एनडीए के लिखित और साक्षात्कार की तैयारी करवाते हैं । उनके निर्देशन में कई युवाओं को आर्मी एयरफोर्स और नेवी में कमीशन का रास्ता प्रसस्त हुआ है । ज्ञात रहे कि कर्नल रावल मराठा लाइट इन्फेंट्री से 36 साल की सेवा बाद सेवानिवृत्त हुए हैं । उन्होंने कई मिलट्री ट्रेनिंग सेंटर्स में ऑफीसर्स को बतौर हेड प्रशिक्षित किया है   ।

कर्नल रावल सेना में बतौर ट्रेनर प्रसिद्वि पाए हैं और उनके पास सेना अधिकारियों को प्रशिक्षित करने का लंबा अनुभव है उन्हें सेना में बेहतरीन अकादमिक करियर वाला अधिकारी माना जाता रहा है । कर्नल देवेंद्र रावल कई वर्षों तक आफिसर्स ट्रेनिंग अकेडमी ग्वालियर में बतौर इन्सटेक्टर सहित आईएमए एनसीसी के डीजी रह चुके हैं ।

2017 में सेवानिवृत्त के बाद उन्होंने बच्चों को सेना के लिए प्रोत्साहित किया ही साथ ही खुद उन्हें पढ़ाना शुरू किया । 2022 तक उनके प्रशिक्षण की बदौलत 49 विद्यार्थियों ने सीडीएस आईएमए और ओटीएस में अधिकारी वर्ग में  प्रवेश पाया है ।

हिलवार्ता से बातचीत में कर्नल रावल ने बताया कि सेना में जाने के लिए अत्यधिक परिश्रम और एकाग्रता की जरूरत होती है । जिन विद्यार्थियों में दोनों क्षमताएं मौजूद हैं उन्हें लिखित और मौखिक दोनों परीक्षाओं में अकेडमी में तैयारी कराई जाती है । रावल मानते हैं कि सेना में जाने के लिए अत्यधिक समर्पण की जरूरत होती है । जो उत्तराखंड के युवाओं में मौजूद है । लिहाजा यहां सेना में सभी तरह की सेवा में जाने के अवसर अधिक हैं ।

कर्नल रावल ने कहा कि उनका लक्ष्य आगामी परीक्षा तक कमसेकम 75 स्टूडेंट्स को प्रशिक्षण देकर सफल बनाने का है । जिसके लिए वह खुद भी कड़ी मेहनत कर रहे हैं । ज्ञात रहे कि इस वर्ष हिमांशु पांडे जहां पहली रैंक पाने में सफल रहे हैं वहीं उनकी अकेडमी के छात्र परमिंदर सिंह आल इंडिया में 18वीं जबकि रोहित डांगी 26वीं रैंक हासिल करने में कामयाब रहे हैं ।

हिलवार्ता न्यूज 

Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
गोविन्द गोपाल
गोविन्द गोपाल

बहुत गर्व की बात है , अभिभावक, अध्यापक और कर्नल रावल की टीम बधाई की पात्र है . हिमान्शु पाण्डेय के उज्जवल भविष्य की कामना है .