Breaking News

बिग ब्रेकिंग: इंतजार खत्म,अब कभी भी जारी हो सकता है NEET UG Result 2021, सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसी को परिणाम घोषित करने की दी छूट,पूरी खबर @हिलवार्ता बड़ी खबर: उत्तराखंड निवासी राष्ट्रीय (महिला) बॉक्सिंग प्रशिक्षक भाष्कर भट्ट को वर्ष 2021 का द्रोणाचार्य अवार्ड मिला,बॉक्सिंग में उत्तराखंड के पहले अवार्डी बने भट्ट,खबर विस्तार से @हिलवार्ता विशेष खबर: अलमोड़ा निवासी अमेरीकी डिजाइन इंजीनियर का मिशन है हर साल गांव आकर पढ़ाना, और गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद देना,जानिए उनके बारे @हिलवार्ता उत्तराखंड : दो पर्यटक वाहनों की टक्कर में पांच की मौत पंद्रह घायल,दो अलग अलग घटनाओं में एक हप्ते के भीतर 10 बंगाली पर्यटकों की गई जान,खबर विस्तार से @हिलवार्ता उत्तराखंड: नियोजन समिति के चुनाव न कराए जाने पर प्रदेश के जिलापंचायत सदस्य नाराज, एक नवम्बर से काला फीता बांध करेंगे विरोध, और भी बहुत,पढिये@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

पिथौरागढ, 23 जून। पिथौरागढ़ से तवाघाट मोटर मार्ग में बी.आर.ओ. रेता बजरी की जगह मिट्टी में सिमेंट मिलाकर दीवार बना रही है. किलो मीटर तीस पर कर रहे मजदूर बीआरओ के मातहत काम कर रहे हैं

भाजपा नेता जगत मर्तोलिया ने बताया कि आज तवाघाट के पास से पिथौरागढ़ जाते हुए जब उन्होंने बीआरओ के काम को देखा वह भौचक्के रह गए यहां रेता की जगह मिट्टी में सीमेंट मिलाकर तगार बनाई जा रही थी जिसकी फ़ोटो उन्होंने ली और कहा है कि इस बाबत वह बी.आर.ओ. के डीजीपी व केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री से मुलाकात करेंगे और पूरी बात उनको कही जायेगी.

जगत मर्तोलिया ने आरोप लगाते हुए बताया कि बी.आर.ओ.के अधीन चल रहे सभी मोटर मार्गो में इसी तरह काम किया जा रहा है.जहाँ जहाँ भी दीवार,पुल,आर.सी.सी,नालियों के जो निर्माण हुए है, वे कभी भी ढह,बह सकते है जिसकी उच्च स्तरीय जांच की जानी चाहिए उन्होंने कहा कि घटिया निर्माण की वजह इन सड़कों का एक बरसात चलना मुश्किल है सड़क दुर्घटना हो सकती है जिसकी जिम्मेदारी विभाग के अधिकारियों के ऊपर डाली जानी चाहिए.

उत्तराखंड में पिछले दो दशक से बनी अधिकतर सड़कों का लगभग यही हाल है लोनिवि द्वारा भी टनकपुर पिथौरागढ़ मार्ग में भी घटिया निर्माण के आरोप लगते रहे हैं आल वेदर रोड बनाने वाली कंपनी पर भी आरोप है कई जगह सड़क खोद कर रिटेनिंग वाल तक नहीं बनाई गई है जिससे इस बरसात सड़क ध्वस्त होने से यातायात बाधित होने की पूरी सम्भवना बनी हुई है,सरकारों की बेरुखी और अनदेखी के चलते घटिया सड़क निर्माण की सुनवाई तो होती ही नही कभी रेंडम चेकिंग तक नहीं होती है ।
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@ hillvarta. com

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड आपदा ब्रेकिंग :सुन्दरढूंगा क्षेत्र में एसडीआरएफ को मिली सफलता,लापता पांच बंगाली ट्रेकर्स के शव मिले,कलकत्ता भेजे जा रहे हैं शव,पूरी खबर @हिलवार्ता