Breaking News

Big breaking: उत्तराखंड में चुनाव पूर्व सियासी ड्रामा चालू आहे । अब हरक सिंह रावत को पार्टी और केबिनेट से निकाले जाने की खबर : देर रात हुआ सब कुछ पढ़िए @हिलवार्ता BIG NEWS: लक्ष्य सेन इंडिया ओपन जीते, फाइनल में 24-22,21-17 से विश्व विजेता खिलाड़ी को दी शिकस्त,पूरी खबर @ हिलवार्ता Big Breaking : लक्ष्य सेन India Open Badminton 2022 के फाइनल में पहुँचे, विश्व चेम्पियन लोह किन यू से होगा मुकाबला : पूरी खबर @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022 : पर्वतीय क्षेत्रों में कम लोग कर रहे मतदान, 2017 का ट्रेंड जारी रहा तो कई दलों का चुनावी गणित होगा प्रभावित, विशेष रिपोर्ट @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022: हलद्वानी में मेयर डॉ जोगेंद्र पाल सिंह रौतेला ही होंगे भाजपा के खेवनहार, सूत्रों से खबर @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

========
खतरे की जद में पूर्व सैनिक का आशियाना
● ऊपर भूस्खलन, नीचे बना तालाब
● डी एम से लगाई न्याय की गुहार
============
चंपावत: सीमाओं की रक्षा करने वाले सैनिकों की बदौलत भले ही हम अमन चैन की नींद ले पाते हों,लेकिन यही सैनिक अक्सर अपनी समस्याओं के लिए सरकारी अमले के सामने मजबूर नजर आते है।आलवैदर रोड कटिंग के चलते एक पूर्व सैनिक का भवन खतरे की जद में आ गया है।अब उसने इस मसले पर डी एम से न्याय की गुहार लगाई है।
मुडियानी निवासी पूर्व सैनिक दिवान सिंह मेहरा ने जिलाधिकारी रणवीर सिंह चौहान से मुलाकात कर बताया कि आलवैदर रोड निर्माण के दौरान उसके घर के ऊपर भी पहाडी का कटान किया गया। जिससे पहाडी का मालवा गिर रहा है हांलाकि दिवार लगाई गई परंतु उसकी लंबाई कम है और उसमें दरार आ गई है।साथ ही उसकी फीलिंग भी नही करी गई। जबकि मकान के नीचे की ओर बने कलमठ में रोड कटिंग का मालवा गिरने से वह बंद हो गया है और वहां तालाब बन गया है। तालाब से भी खतरा पैदा हो रहा है। साथ ही कटिंग के दौरान उनके घर का रास्ता भी टूट गया अब रास्ता न होने से आने जाने में दिक्कत हो रही है।
पूर्व सैनिक ने बताया कि वह इस मामले में कार्य करी रही निर्माण कंपनी से कई बार कह चुके है परंतु समस्या का समाधान नही हो पा रहा है। जबकि पूर्व में एडीएम से भी गुहार लगाई गयी थी।
इधर डी एम ने पूर्व सैनिक को जांच कर जरुरी कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

============
दिनेश पांडेय
वरिष्ठ पत्रकार

रास्ट्रीय दैनिक समाचार पत्रों
में सेवाएं दे चुके हैं ।
Hillvarta.com

यह भी पढ़ें 👉  विधानसभा चुनाव 2022 : पर्वतीय क्षेत्रों में कम लोग कर रहे मतदान, 2017 का ट्रेंड जारी रहा तो कई दलों का चुनावी गणित होगा प्रभावित, विशेष रिपोर्ट @हिलवार्ता