Breaking News

उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता दुख भरी खबर : जम्मू में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद, जम्मू के मेडर में सोमवार से सेना का ऑपरेशन जारी,पूरी खबर@हिलवार्ता हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता नई शिक्षा नीति 2020 के तहत राज्यों में एक अक्टूबर से शुरू हुआ निष्ठा प्रशिक्षण, यूजीसी द्वारा संचालित टीचर्स ओरिएंटेशन रिफ्रेशर कोर्स की तरह है निष्ठा.आइये समझते हैं @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

गणतंत्र दिवस 2020 के अवसर पर घोषित किए जाने वाले पद्म पुरस्‍कारों के लिए ऑनलाइन नामांकन/सिफारिशें 01 मई, 2019 से शुरू हो चुके हैं। पद्म पुरस्‍कारों के लिए नामांकन की अंतिम तारीख 15 सितम्‍बर, 2019 है.
पद्म पुरस्‍कार जैसे पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री देश के सर्वोच्‍च नागरिक पुरस्‍कार हैं। 1954 में शुरू किए गए इन पुरस्‍कारों की घोषणा हर वर्ष गणतंत्र दिवस पर की जाती है,ये पुरस्‍कार आसाधारण कार्य को मान्‍यता प्रदान करने और सभी क्षेत्रों जैसे कला,साहित्‍य और शिक्षा, खेल,चिकित्‍सा,सामाजिक कार्य,विज्ञान और इंजीनियरिंग, सार्वजनिक मामलों, प्रशासनिक सेवा,व्‍यापार और उद्योग आदि के सभी क्षेत्रों में विशिष्‍ट और असाधारण उपलब्धियां हासिल करने/सेवाएं देने के लिए दिया जाता है,किसी भी जाति,व्‍यवसाय,पद अथवा लिंग का कोई भी व्‍यक्ति इन पुरस्‍कारों के लिए पात्र हो सकता है,डाक्‍टरों और वैज्ञानिकों को छोड़कर सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में काम करने वाले सरकारी कर्मचारी पद्म पुरस्‍कारों के पात्र नहीं हैं.
पद्म पुरस्‍कारों के लिए नामांकन/सिफारिशें केवल पद्म पोर्टल www.padmaawards.gov.in. पर प्राप्‍त किए जाएंगे। केन्‍द्रीय मंत्रालयों/विभागों, राज्‍यों/संघ शासित सरकारों, भारत रत्‍न और पद्म विभूषण पुरस्‍कार विजेताओं,प्रतिष्ठित संस्‍थानों से अनुरोध किया गया है कि वे ऐसे प्रतिभाशाली व्‍यक्तियों की पहचान करने के लिए ठोस प्रयास करें, जो अपनी उत्‍कृष्‍ट सेवाओं और उपलब्धियों के कारण वास्‍तव में पद्म पुरस्‍कार लेने की योग्‍यता रखते हैं। उनके पक्ष में उचित तरीके से नामांकन किया जाए.
सभी नागरिक स्‍व-नामांकन सहित नामांकन/सिफारिशें कर सकते हैं। नामांकन/सिफारिशों में उपरोक्‍त वेबसाइट पर उपलब्‍ध प्रारूप में महत्‍वपूर्ण विवरण शामिल होना चाहिए। इसमें सम्‍बद्ध क्षेत्र में सिफारिश किए गए व्‍यक्ति के विवरण के साथ (अधिकतम 800 शब्‍द) प्रशंसनात्‍मक उल्‍लेख सहित उसकी असाधारण उपलब्धियों/सेवाओं की स्‍पष्‍ट जानकारी होनी चाहिए.
गृह मंत्रालय ने केन्‍द्र सरकार के साथ-साथ राज्‍य/संघ शासित सरकारों के सभी मंत्रालयों/विभागों से अनुरोध किया है कि महिलाओं, समाज के कमजोर वर्गों, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति, दिव्‍यांग व्‍यक्तियों में से ऐसे प्रतिभाशाली व्‍यक्तियों की पहचान करने के लिए प्रयास करें, जिनके नाम पर पुरस्‍कार के बारे में विचार किया जा सकता है.
इस संबंध में विस्‍तृत विवरण गृह मंत्रालय की वेबसाइट (www.mha.gov.in).पर पुरस्‍कार और पदक शीर्षक के अंतर्गत उपलब्‍ध है। इन पुरस्‍कारों के संबंध में नियम और शर्तें इस वेबसाइट https://padmaawards.gov.in/AboutAwards.aspx पर उपलब्‍ध है.
हिलवार्ता डेस्क
@hillvarta. com

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता