Breaking News

Doctor,s Day 1st july 2022 special report:”अग्रिम मोर्चे पर फैमिली डॉक्टर,थीम के साथ Doctor,s Day सेलिब्रेशन आज. डॉ एन एस बिष्ट का विशेष आलेख पढिये @हिलवार्ता Dehradun : धामी सरकार के 100 दिन पूरे, शिक्षा मित्र और अतिथि शिक्षकों का मानदेय बढ़ा,खबर@हिलवार्ता Uttrakhand:हिमांचल की तर्ज पर राज्य में ग्रीन सेस लगाए जाने की जरूरत, बेतहासा पर्यटक,धार्मिक टूरिस्म प्राकृतिक संसाधनों पर भारी,पढ़ें@हिलवार्ता Haldwani : प्रसिद्ध लोक साहित्यकार स्व मथुरा दत्त मठपाल स्मृति दो दिवसीय कार्यशाला 29-30 जून एमबीपीजी में,100 कुमाउँनी कवियों के कविता संग्रह का होगा विमोचन, खबर@हिलवार्ता Uttrakhand : मानसून ने दी दस्तक, राज्य के मैदानी क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट, मुनस्यारी ने तेज बारिश के बाद सड़क यातायात प्रभावित,खबर@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ने दुनियाभर में एक बार फिर टेंशन बढ़ा दी है । नया वैरियंट का पता इस बार दक्षिण अफ्रीका में देखने को मिला है जिसके बाद दुनियाभर में चिंता बढ़ गई है ।

बताया जा रहा है कि अफ्रीका में मिले इस नए वेरिएंट में डेल्टा वैरिएंट की अपेक्षा अधिक नुकसान करने की ताकत मौजूद हो सकती है ।ओमीक्रोन की पहली तस्वीर इटली के शोधकर्ता ने जारी की है जिसमे बताया गया है कि कोविड 19 का यह नया वैरिएंट मूल वायरस से बहुत परिवर्तित स्वरूप है । जिसमें डेल्टा वैरिएंट की अपेक्षा बहुत अधिक म्युटेशन दिखाई दे रहे हैं । अभी यह जानने की कोशिश जारी है कि यह नया स्वरूप कितना घातक है ।

 

भारत मे भी इस बात को लेकर चिंताएं बढ़ना स्वाभाविक है क्योंकि नए वैरिएंट को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन को भी इस वैरिएंट के बारे में ठीक ठीक आंकलन इकट्ठा करने और इसके लिए आवश्यक कदम उठाए जाने को लेकर गाइडलाइन तैयार करने में समय लग रहा है । इसके वावजूद मिली जानकारी के बाद डब्ल्यू एच ओ ने सभी देशों को इस नए वैरिएंट को लेकर सतर्क रहने को कहा है ।

डब्लू एच ओ ने पिछले शुक्रवार इसे चिंता जनक बताया और इस वैरिएंट को ओमिक्रोन नाम दिया । संगठन ने कहा है कि हालांकि ओमीक्रोन वैरिएंट डेल्टा वन की तुलना में अधिक खतरनाक है कि नहीं इसके लिए डेटा एकत्रित किया जा रहा है । जिसके बाद स्पष्ट कहा जा सकेगा । इस वैरिएंट का वैक्सीन की प्रभावकारिता पर भी असमंजस बना हुआ है जिस कारण यह पता नही चल सकता है कि वैक्सीन लगे हुए लोगों पर इसका कितना प्रभाव पड़ेगा ।

इस वैरिएंट का वेक्सिनेटेड हुए लोगों पर असर जानने के लिए संगठन की टीम अफीका में हालिया इस वायरस के कारण भर्ती हुए मरीजों पर अध्ययन कर रही है । माना जा रहा है कि जल्द नए वैरिएंट पर पुख्ता जानकारी सामने आ जायेगी । डब्लू एच ओ ने माना है कि अफ्रीका ने तेजी से इसके मरीज बढ़े हैं और कहा है कि कोविड के अन्य स्वरूपों की तुलना में प्राम्भिक साक्ष्य इस स्वरूप ओमीक्रोम से खतरा बढ़ सकता है ।
कोरोना वायरस के ओमीक्रोन वैरियंट से पूरी दुनिया परेशान है। दक्षिण अफ्रीका के सबसे आबादी वाली प्रांत गोतेंग में ओमीक्रोन वैरियंट ने तो तबाही मचाई हुई है। इस प्रांत के सभी अस्पताल ओमीक्रोन से संक्रमित मरीजों से भरे हुए हैं।

ज्ञात रहे कि कोविड के इस नए वैरिएंट ने दक्षिण अफ्रीका के सर्वाधिक आबादी वाले प्रांत गोटेंग में परेशानी बढ़ा दी है बताया जा रहा है कि यहां सभी अस्पतालों में संक्रमित भर्ती हो रहे हैं जिससे दुनियाभर में दिक्कतें बढ़ गई है । कई देशों ने अपने बॉर्डर सील करने और कोविड अप्रोप्रिएट बिहेवियर लागू करने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments