Breaking News

उत्तराखंड: मूसलाधार बारिश से खतरा बढ़ा, कई सड़कें बंद, नदी-नाले उफनाए, पर्यटकों की हुई आफत, दिन भर की अपडेट@हिलवार्ता विशेष रपट: पूर्व मुख्यमंत्री स्व नारायण दत्त तिवारी को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी, विशेष श्रद्धांजलि, कल है पूर्व कांग्रेसी नेता का जन्मदिन,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड :महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा का प्रदेश भर के स्कूल बंद का आदेश जारी, 18 को सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूल बंद रहेंगे,पढ़िए@हिलवार्ता मौसम अलर्ट: उत्तराखंड में भी भारी बारिश की आशंका, अलर्ट रहने की हिदायत,जारी हुआ हेल्प लाइन नम्बर,पूरी जानकारी @हिलवार्ता उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के सुप्रसिद्व लोक गायक हीरा सिंह राणा का आज प्रातः 3:00 बजे दिल्ली स्थित अपने निवास विनोद नगर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया । हाल ही में दिल्ली सरकार ने हीरा सिंह राणा को गढ़वाली कुमाऊनी जौनसारी अकादमी का उपाध्यक्ष मनोनीत किया था, हीरा सिंह राणा ने कई जनगीतों को लिखा और आवाज दी । उत्तराखंड के कला प्रेमी उनकी मौत की खबर से स्तब्ध हैं ।

File photo

हीरा सिंह राणा के गीतों की मारक क्षमता बहुत अधिक रही है ,उन्होंने लोक को बहुत गहराई से जिया है, उनके गीतों में विविधता है उनके पास लोक की अनेक विधाएं रही हैं, जिस वजह उनका गायन विशेष तरह की अनुभूति युक्त दिल को छूने वाला रहा है ।

उनके लेखन में हास्य,व्यंग,प्रेम, विरह सभी विधाओं की भरमार है,इसी वजह उनके अलग अलग समय पर भिन्न सब्जेक्ट पर गाने हिट रहे उन्हें लोगों ने बहुत पसंद किया आठवें दशक के उनके गानों की खूब धूम रही,आज काल हेरे जवां ना मेरी नॉली पारणा, रंगीली बिंदी घघरी काई, लोकप्रिय हुए, लोकजीवन पर राणा जी की पकड़ जबरदस्त थी

उनकी त्योर पहड़ म्योर पहाड़, होय दुःखों को डयर पहाड़,बुजुर्गों ले जोड़ पहाड़,राजनीति ले तोड़ पहाड़,ठेकेदारों ले फोड़ पहाड़,नांतिनों ले छोड़ पहाड़, गीत उनकी अपने समाज को समझने और उसे अपने गीतों में पिरोकर आम आवाज बना देने की कला का बड़ा उदाहरण है

उनके लिखे, गाये हुए जनगीत उत्तराखंड के सभी छोटे बड़े आंदोलनों की धार बनती रही हैं गिर्दा और प्रसिद्ध गायक नरेंद्र सिंह नेगी की तरह हीरा सिंह राणा उत्तराखंड के जनमानस में बहुत लोकप्रिय कलाकारों में एक रहे । उनके जनगीत में लशका कमर बांधा हिम्मत क साथा,भोल जब उज्याव होलो, बहुत लोकप्रिय रहा ।

लोक के मर्मज्ञ कवि गायक हीरा सिंह राणा जी को हिलवार्ता की अश्रुपूरित श्रधांजलि ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड :महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा का प्रदेश भर के स्कूल बंद का आदेश जारी, 18 को सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूल बंद रहेंगे,पढ़िए@हिलवार्ता
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments