Breaking News

Big breaking:2023 के बाद Johnson & Johnson टेल्क पाउडर होगा बाजारों से गायब, पाउडर में कैंसर के लिए जिम्मेदार अवयव मिलने के बाद भरना पड़ा भारी जुर्माना,पूरी खबर पढिये@हिलवार्ता Good initiative : रामनगर स्थित public school ने उत्तराखंड के आजादी के नायकों की फ़ोटो गैलरी बनाकर की मिशाल कायम,खबर विस्तार से@हिलवार्ता Big Breaking: उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन ने commenwealth games का स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : दुखद खबर: उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हरीश पाठक का निधन, पूरी जानकारी @हिलवार्ता Haldwani धरना अपडेट :सिटी मजिस्ट्रेट का आश्वासन, एक हप्ते में होगा समाधान ,जलभराव से निजात के लिए चल रहा धरना स्थगित,विधायक भी पहुँचे धरनास्थल,खबर@ हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड राज्य आंदोलन सहित पहाड़ के संघर्षों में अग्रणी भूमिका में रहे श्री विपिन त्रिपाठी की आज 15वीं पुण्यतिथि है आज उनके गृहनगर द्वाराहाट में उनकी याद में गोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है.23 फरवरी 1945 में द्वाराहाट में पैदा हुए विपिन दा के संघर्षों की लंबी फेहरिस्त है.
गरीबी बदहाली से आजिज पहाड़ की स्थिति को बदलने की मंशा से विपिन दा ने छोटे छोटे स्थानीय आंदोलनों में हिस्सेदारी की. वह वर्ष 1989 में द्वाराहाट ब्लॉक प्रमुख का चुनाव जीते. विपिन दा के लिए कहा जाता है कि प्रमुख का चुनाव जीतने के बाद उन्होंने जिस तरह अपने छेत्र में काम करवाये वह किसी भी सांसद और विधायक से ज्यादा है उन्हें अपनी कार्यकुशलता और ईमानदारी के बल पर बदलाव कर सकने वाले नेता के रूप में प्रसिद्धि मिली,उत्तराखंड क्रांतिदल के अग्रणी नेताओं में शुमार बिपन दा को उक्रांद का थिंक टैंक भी कहा जाता है.

राज्य निर्माण के बाद उन्होंने द्वाराहाट विधानसभा चुनाव जीता. उक्रांद को एकजुट कर गैर भाजपा गैर कांग्रेसी गठबंधन की कवायद सहित अब तक विखर चुके उक्रांद को इकट्ठा करने की उन्होंने कोशिश जारी रखी थी कि 30अगस्त 2004 को उनको अपने घर मे चेस्ट पेन हुआ और विपिन दा इस दुनियां से दूर चले गए. उपेक्षित उत्तराखंड को जब विपिन दा की शख्त थी जो आज भी उनको जानने मानने वाले महसूस करते हैं उनमें जबरदस्त सांगठनिक क्षमता थी उनके जाने के बाद शायद ही उक्रांद की स्थिति ठीक हो पाई.
आज उक्रांद अपने चहेते नेता को प्रदेश भर में याद कर ही रहा है उनके समकक्ष अन्य राजनीतिक धाराओं के लोग भी विपिन त्रिपाठी को अलग अलग जगह याद कर रहे हैं .हिलवार्ता की ओर से विपिन दा को नमन श्रद्धांजलि ।
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta. com