Breaking News

बिग ब्रेकिंग: इंतजार खत्म,अब कभी भी जारी हो सकता है NEET UG Result 2021, सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसी को परिणाम घोषित करने की दी छूट,पूरी खबर @हिलवार्ता बड़ी खबर: उत्तराखंड निवासी राष्ट्रीय (महिला) बॉक्सिंग प्रशिक्षक भाष्कर भट्ट को वर्ष 2021 का द्रोणाचार्य अवार्ड मिला,बॉक्सिंग में उत्तराखंड के पहले अवार्डी बने भट्ट,खबर विस्तार से @हिलवार्ता विशेष खबर: अलमोड़ा निवासी अमेरीकी डिजाइन इंजीनियर का मिशन है हर साल गांव आकर पढ़ाना, और गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद देना,जानिए उनके बारे @हिलवार्ता उत्तराखंड : दो पर्यटक वाहनों की टक्कर में पांच की मौत पंद्रह घायल,दो अलग अलग घटनाओं में एक हप्ते के भीतर 10 बंगाली पर्यटकों की गई जान,खबर विस्तार से @हिलवार्ता उत्तराखंड: नियोजन समिति के चुनाव न कराए जाने पर प्रदेश के जिलापंचायत सदस्य नाराज, एक नवम्बर से काला फीता बांध करेंगे विरोध, और भी बहुत,पढिये@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

समय पर न्याय की आशा में बैठी जनता अधिकारियों की नाफरमानी के चलते न्याय लंबे समय तक न्याय को वंचित रहती है बार बार अधिकारियों को चौखट पर चक्कर लगाने से समय धन दोनो की बर्बादी होती ही है, सरकार को राजस्व का नुकसान भी होता है समय पर राजस्व के मामलों का निपटारा हो जाये तो सरकार और वादी दोनो के लिए ठीक रहता है लेकिन अधिकारी हैं कि मानते ही नहीं, राजस्व वादों के निपटारे में देरी के कारण जनपदवार क्या हालत है एक नजर डालते हैं-जनपद नैनीताल में 5539 , जनपद अल्मोड़ा में 560’जनपद ऊधम सिंह नगर में 8163,जनपद पिथौरागढ़ में 416,जनपद चम्पावत में 341,जनपद बागेश्वर में 214 राजस्व वाद लम्बित है,
इसी मद्देनजर कुमायूँ कमिश्नर श्री राजीव रौतेला ने आज वीसी के जरिये मंडल के सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी राजस्व न्यायिक अधिकारियों की पाक्षिक डायरी बनवाना सुनिश्चित करें तथा रिवेन्यू मेनुअल के अनुसार सभी बिन्दुओं पर प्रतिदिन किए गए कार्यों की स्वयं पाक्षिक समीक्षा करते हुए आख्या उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि पाक्षिक डायरियों का अवलोकन किसी भी दशा में अपर जिलाधिकारियों से नहीं कराया जाए। उन्होंने मण्डल की विभिन्न तहसीलों में बार एसोशिएसन से वार्ता करते हुए वादों की सुनवाई में तेजी लाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि सभी अपर जिलाधिकारी अपने अधीनस्थ कर्मचारियों एवं अधिकारियों के कार्यों की गहनता से समीक्षा एवं मानीटरिंग करना सुनिश्चित करें। उन्होंनेएक सप्ताह के भीतर राजस्व वादो की समीक्षा करने के निर्देश सभी जिलाधिकारियों को दिए। उन्होंने प्रोन्नत अधिकारियों तथा नव नियुक्त अधिकारियों को इण्डियन एवीडेंस एक्ट तथा विभिन्न न्यायिक प्रक्रियाओं की जानकारी देने हेतु सभी जनपदों के डीजीसी तथा अपर जिलाधिकारियों को कार्यशाला आयोजित करने के निर्देश दिए.
साथ ही कुमाऊॅ मण्डल में स्थित राजस्व न्यायालयों की कमियों को इंगित करते हुए राजस्व न्यायालयों के राजस्व न्यायिक अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर खेद व्यक्त किया, उन्होंने अपर जिलाधिकारियों, उप जिलाधिकारियों, तहसीलदारों एवं नायब तहसीलदारों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी राजस्व न्यायिक अधिकारी राजस्व न्यायालय में ब्लैक कोट पहनकर जाए तथा यूनिफाॅम प्रोपर हो. उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि राजस्व न्यायालय की गरिमा शानदार हो तथा न्यायालय में मोबाईल पूर्णतः वर्जित हो.
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@ hillvarta.com

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड आपदा ब्रेकिंग :सुन्दरढूंगा क्षेत्र में एसडीआरएफ को मिली सफलता,लापता पांच बंगाली ट्रेकर्स के शव मिले,कलकत्ता भेजे जा रहे हैं शव,पूरी खबर @हिलवार्ता