Breaking News

Big breaking:2023 के बाद Johnson & Johnson टेल्क पाउडर होगा बाजारों से गायब, पाउडर में कैंसर के लिए जिम्मेदार अवयव मिलने के बाद भरना पड़ा भारी जुर्माना,पूरी खबर पढिये@हिलवार्ता Good initiative : रामनगर स्थित public school ने उत्तराखंड के आजादी के नायकों की फ़ोटो गैलरी बनाकर की मिशाल कायम,खबर विस्तार से@हिलवार्ता Big Breaking: उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन ने commenwealth games का स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : दुखद खबर: उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हरीश पाठक का निधन, पूरी जानकारी @हिलवार्ता Haldwani धरना अपडेट :सिटी मजिस्ट्रेट का आश्वासन, एक हप्ते में होगा समाधान ,जलभराव से निजात के लिए चल रहा धरना स्थगित,विधायक भी पहुँचे धरनास्थल,खबर@ हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

विधानसभा चुनाव 2022 : यूपी में पहले फेज का चुनाव सम्पन्न 58 सीटों पर हुआ कुल 60.33% मतदान,2017 से लगभग 3.5 % मतदान कम हुआ है । दूसरे फेज में यूपी में उत्तराखंड के साथ 14 फरवरी को मतदान होना है । उत्तराखंड में सबकी नजरें मतदान प्रतिशत पर टिकी हैं । 2017 में उत्तराखंड में 65.47% मतदान हुआ । मैदानी जिलों में लोगों ने बढ़चढ़ कर मताधिकार का प्रयोग किया जबकि पर्वतीय जिलों में यह 50 प्रतिशत या उससे कम रहा ।

उत्तर प्रदेश में आज पहले चरण का मतदान सांयः 6 बजे सम्पन्न हुआ । चुनाव आयोग के अनुसार दिल्ली से सटे इलाकों सहित पश्चमी उत्तरप्रदेश की 58 सीटों के लिए हुए मतदान का प्रतिशत पिछली विधानसभा चुनावों से कम रहा । यहां आज सम्पन्न हुए मतदान में कुल 60.33% मत पड़े जबकि राज्य में पहले फेज में 2017 में 64.22 %मतदान हुआ था ।

चुनाव आयोग से देर शाम  प्राप्त जानकारी के अनुसार शामली में  69.42%,मुजफ्फरनगर में 65.34%,मेरठ में 60.91,मथुरा में 63.28,हापुड़ में 60.50,गाज़ियाबाद में 54.77,गौतमबुद्ध नगर में 56.73 बुलन्दशहर में 60.52बागपत में 61.35,अलीगढ़ में 60.49,जबकि आगरा में 60.33 प्रतिशत मतदान हुआ ।

ज्ञात रहे कि यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर हुए चुनाव में योगी सरकार के 9 मंत्रियों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई है । 2017 में यहां से भाजपा को 53 सीटों पर विजय हासिल हुई थी । गत चुनाव में कुल 73 सीटों के लिए पहले चरण में मतदान हुआ था । तब 73 सीटों पर कुल 63.47% मतदान हुआ था ।

राज्य में 2017 जैसी परिस्थिति कम है । किसान आंदोलन की वजह किसान बहुल इस क्षेत्र में सतारुढ़ भाजपा को कितना नफा नुकसान होता है यह 10 मार्च को ही पता चल पाएगा ।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments