Breaking News

Big breaking:2023 के बाद Johnson & Johnson टेल्क पाउडर होगा बाजारों से गायब, पाउडर में कैंसर के लिए जिम्मेदार अवयव मिलने के बाद भरना पड़ा भारी जुर्माना,पूरी खबर पढिये@हिलवार्ता Good initiative : रामनगर स्थित public school ने उत्तराखंड के आजादी के नायकों की फ़ोटो गैलरी बनाकर की मिशाल कायम,खबर विस्तार से@हिलवार्ता Big Breaking: उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन ने commenwealth games का स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास,पूरी खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : दुखद खबर: उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हरीश पाठक का निधन, पूरी जानकारी @हिलवार्ता Haldwani धरना अपडेट :सिटी मजिस्ट्रेट का आश्वासन, एक हप्ते में होगा समाधान ,जलभराव से निजात के लिए चल रहा धरना स्थगित,विधायक भी पहुँचे धरनास्थल,खबर@ हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

राज्य कर्मचारी बीमा निगम (ई.एस.आई.सी.) की बैठक रिस्पना पुल, हरिद्वार रोड स्थित एक होटल में हुई जिसमें पर्वतीय क्षेत्रों में ऐसे संस्थानों को भी ई.एस.आई.सी. के दायरे में लाने का फैसला लिया गया है जिनमें 5 कर्मचारी कार्यरत हैं,साथ ही स्वैच्छिक ई.एस.आई.सी.के लिए भी प्रोत्साहन देने का निर्णय लिया गया है.
अभी प्रदेश में 28 लाख कर्मचारियों को ई.एस.आई.सी का लाभ मिल रहा है बोर्ड में रुद्रपुर में एकमात्र ओपीडी चलने और एक ही डॉक्टर के भरोसे चल रहे अस्पताल के लिए और डॉक्टरों की नियुक्ति की जाने के लिए प्रयास किये जाने की बात हुई,मंत्री ने कहा कि रुद्रपुर स्थित अस्पताल के 100 बेड का बन रहा है कोशिश की जाएगी कि तीन महीने के अंदर कमसेकम 50 बेड कर्मचारियों के इलाज के लिए तैयार हो जाएं.
बोर्ड बैठक में कोटद्वार के अन्दर 300 बैड के सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल के निर्माण को भी हरी झण्डी दी गयी है.बोर्ड अधिकारियों ने बताया कि इस अस्पताल के लिए भूमि अधिग्रहित कर उस पर चारदीवारी करवाई जा चुकी है.साथ ही हरिद्वार में 100 बैड के ई.एस.आई.सी. अस्पताल के लिए  शीघ्र ही कार्य शुरू कर दिया जायेगा, इसके लिए आंवटित भूमि में सिडकुल द्वारा कुछ भूमि वापिस मांगे जाने के सम्बन्ध में उच्चस्तरीय वार्ता कर इसका निराकरण किया जाना है बैठक में बोर्ड अध्यक्ष ने अपर सचिव,श्रम को निर्देश दिया है कि हर जिले के जिलाधिकारी को पत्र लिखकर भूमि की उपलब्धता के लिए कहा जायेगा, इसके साथ साथ कर्मचारियों को चिकित्सा सुविधा देने के लिए आई0टी0 पार्क और नेहरू काॅलोनी स्थित डिस्पेन्सरी में पैथौलाजी लैब भी शुरू की जा रही है.
बोर्ड बैठक में निर्णय हुआ है कि पर्वतीय क्षेत्रों की विषम भौगोलिक परिस्थिति को देखते हुए 10 से 20 बैड के अस्पतालों को भी सम्बद्धता दी जाएगी,अनुबन्धित अस्पतालों में ई.एस.आई.सी.से आच्छादित कर्मचारियों के भर्ती सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी जिसके लिए भर्ती होने पर अधिकतम 72 घंटे के अन्दर सम्बन्धित जिलों के कार्यालयों को सूचित करना होगा,जिसका भुगतान तुरंत किया जाएगा ऐसा न होने पर बिल भुगतान रोकने की बात कही गई है.
पर्वतीय जनपदों की विषम भौगोलिक परिस्थिति को देखते हुए अब 5 कर्मचारियों वाले संस्थानों को भी ई.एस.आई.सी.में अपने श्रमिकों को पंजीकृत कराना होगा.बैठक में अपर सचिव उमेश नारायण पाण्डे,क्षेत्रीय निदेशक मौहम्मद इरफान रवि चंद्रा सहित बोर्ड के अन्य सदस्य मौजूद रहे.
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta.com