Breaking News

Doctor,s Day 1st july 2022 special report:”अग्रिम मोर्चे पर फैमिली डॉक्टर,थीम के साथ Doctor,s Day सेलिब्रेशन आज. डॉ एन एस बिष्ट का विशेष आलेख पढिये @हिलवार्ता Dehradun : धामी सरकार के 100 दिन पूरे, शिक्षा मित्र और अतिथि शिक्षकों का मानदेय बढ़ा,खबर@हिलवार्ता Uttrakhand:हिमांचल की तर्ज पर राज्य में ग्रीन सेस लगाए जाने की जरूरत, बेतहासा पर्यटक,धार्मिक टूरिस्म प्राकृतिक संसाधनों पर भारी,पढ़ें@हिलवार्ता Haldwani : प्रसिद्ध लोक साहित्यकार स्व मथुरा दत्त मठपाल स्मृति दो दिवसीय कार्यशाला 29-30 जून एमबीपीजी में,100 कुमाउँनी कवियों के कविता संग्रह का होगा विमोचन, खबर@हिलवार्ता Uttrakhand : मानसून ने दी दस्तक, राज्य के मैदानी क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट, मुनस्यारी ने तेज बारिश के बाद सड़क यातायात प्रभावित,खबर@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

पिथौरागढ़ : यहां मुनस्यारी तहसील में अनोखी पहल हुई है । युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए वन पंचायतों की भूमि में स्वत: उगने वाले भांग को नष्ट करने के लिए वन पंचायत सरपंचो के साथ रणनीति बनाई गई है । जिला पंचायत के सरमोली वार्ड के 25 ग्राम पंचायतों को चरस/ भांग मुक्त बनाने के लिए जारी अभियान के क्रम में वन विभाग को भी इसका सांझीदार बना दिया गया है।

विकासखंड के सभागार में आज जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया की उपस्थिति में 25 ग्राम पंचायतों के सरपंचों की बैठक हुई। बैठक में तय किया गया कि वन पंचायत की भूमि में हर साल खुद ही उगने वाले भांग को सरपंच अपने नेतृत्व में अभियान चलाकर नष्ट करेंगें।
वन विभाग के अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है,कि वे समय- समय पर वन पंचायतों का निरीक्षण करेंगे।

बैठक में वन पंचायत के सरपंचों को यह जिम्मेदारी देते हुए कहा कि अगर किसी भी वन पंचायत में भांग के पौध मिले तो वन पंचायतों के खिलाफ विधिक कार्यवाही भी अमल में लाई जाएगी।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने कहा कि नागरिक, राजस्व पुलिस के साथ ही वन विभाग को भी इस क्षेत्र को भांग मुक्त करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

उन्होंने कहा कि जो वन पंचायत भांग मुक्त के लिए उत्कृष्ट कार्य करेगी, तो उसे पुरस्कृत किया जाएगा।
वन विभाग के वन दरोगा त्रिलोक सिंह राणा ने कहा कि विभाग की ओर से 25 ग्राम पंचायतों के सरपंचों को पत्र देकर इसकी जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए। इसके लिए अतिरिक्त वन कर्मियों को लगाने की आवश्यकता होगी तो तैनात किया जाएगा। बैठक में वन पंचायत के सरपंच खुशाल हरकोटिया, हरीश सयाना, कैलाश मर्तोलिया, भगवान सिंह, नारायण सिंह मर्तोलिया ने विचार व्यक्त किए।

हिलवार्ता न्यूज डेस्क 

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments