Breaking News

Big breaking: उत्तराखंड में चुनाव पूर्व सियासी ड्रामा चालू आहे । अब हरक सिंह रावत को पार्टी और केबिनेट से निकाले जाने की खबर : देर रात हुआ सब कुछ पढ़िए @हिलवार्ता BIG NEWS: लक्ष्य सेन इंडिया ओपन जीते, फाइनल में 24-22,21-17 से विश्व विजेता खिलाड़ी को दी शिकस्त,पूरी खबर @ हिलवार्ता Big Breaking : लक्ष्य सेन India Open Badminton 2022 के फाइनल में पहुँचे, विश्व चेम्पियन लोह किन यू से होगा मुकाबला : पूरी खबर @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022 : पर्वतीय क्षेत्रों में कम लोग कर रहे मतदान, 2017 का ट्रेंड जारी रहा तो कई दलों का चुनावी गणित होगा प्रभावित, विशेष रिपोर्ट @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022: हलद्वानी में मेयर डॉ जोगेंद्र पाल सिंह रौतेला ही होंगे भाजपा के खेवनहार, सूत्रों से खबर @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

गैरसेंण में चल रहे बजट सत्र में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसेंण को कमिश्नरी बनाने का एलान किया है । नई कमिश्नरी में बागेश्वर अल्मोड़ा चमोली और रुद्रप्रयाग जिले होंगे शामिल । आज सत्र मे घोषणा की गई है ।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भराड़ीसैंण (गैरसैंण) में बजट पेश करने के दौरान कुछ और घोषणाएं की है आइये देखते हैं ।

गैरसैंण को उत्तराखण्ड में एक नई कमिश्नरी बनाया जायेगा। इसमें चमोली, रूद्रप्रयाग, अल्मोड़ा और बागेश्वर जिलों को शामिल किया जायेगा। गैरसैंण कमिश्नरी में कमिश्नर एवं डीआईजी की नियुक्ति की जायेगी। नई बनाई गई नगर पंचायतों में इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के लिए 01-01 करोड़ रूपये दिये जायेंगे।भराड़ीसैंण (गैरसैंण) ग्रीष्मकालीन राजधानी क्षेत्र के नियोजित विकास के लिए मास्टर प्लान का टेंडर एक माह के भीतर किया जाएगा। गैरसैंण ग्रीष्माकालीन राजधानी परिक्षेत्र में खाद्य प्रसंस्करण इकाई की स्थापना की जायेगी। गैरसैंण ग्रीष्माकालीन राजधानी परिक्षेत्र में 20 हजार फलदार पेड़ लगाये जायेंगे। राज्य के प्रत्येक महाविद्यालयों को 20-20 कम्यूटर दिये जायेंगे।

2022 में हो रहे विधानसभा चुनावों को मद्देनजर त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा आज गैरसैण को कमिश्नरी घोषित करने और चार जिलों को शामिल किए जाने को लेकर अभी प्रतिक्रिया आना बांकी है, चूंकि राज्य समर्थक गैरसैण को स्थायी राजधानी से कम कुछ भी नही चाहते हैं । देखना होगा कि सरकार की इस घोषणा का और कमिश्नरी का लोगों में क्या मेसेज जाता है । चुनाव को मद्देनजर विपक्ष की ओर से वजट सत्र की और इस दौरान हुए लाठीचार्ज की भरपाई करने की यह पेशकश लोगों को किस कदर सहमति प्रदान करती है यह आने वाले समय मे पता चलेगा । लेकिन मुख्यमंत्री द्वारा कमिश्नरी की घोषणा हाल फिलहाल बड़ा सियासी दांव है

यह भी पढ़ें 👉  पिथौरागढ़ : 11 माह पहले सेना भर्ती के लिए मेडिकल फिजिकल पास कर चुके युवा लिखित परीक्षा न होने से परेशान, पूर्व सैनिक संगठन से मिले कहा प्लीज हेल्प, खबर@हिलवार्ता

हिलवार्ता न्यूज डेस्क

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments