Breaking News

बिग ब्रेकिंग: इंतजार खत्म,अब कभी भी जारी हो सकता है NEET UG Result 2021, सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसी को परिणाम घोषित करने की दी छूट,पूरी खबर @हिलवार्ता बड़ी खबर: उत्तराखंड निवासी राष्ट्रीय (महिला) बॉक्सिंग प्रशिक्षक भाष्कर भट्ट को वर्ष 2021 का द्रोणाचार्य अवार्ड मिला,बॉक्सिंग में उत्तराखंड के पहले अवार्डी बने भट्ट,खबर विस्तार से @हिलवार्ता विशेष खबर: अलमोड़ा निवासी अमेरीकी डिजाइन इंजीनियर का मिशन है हर साल गांव आकर पढ़ाना, और गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद देना,जानिए उनके बारे @हिलवार्ता उत्तराखंड : दो पर्यटक वाहनों की टक्कर में पांच की मौत पंद्रह घायल,दो अलग अलग घटनाओं में एक हप्ते के भीतर 10 बंगाली पर्यटकों की गई जान,खबर विस्तार से @हिलवार्ता उत्तराखंड: नियोजन समिति के चुनाव न कराए जाने पर प्रदेश के जिलापंचायत सदस्य नाराज, एक नवम्बर से काला फीता बांध करेंगे विरोध, और भी बहुत,पढिये@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के टिहरी जिले के लंबगांव कंगसाली में स्कूल वैन दुर्घटना के बाद,आज पुलिस द्वारा स्कूल प्रबंधन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है प्रबंधन के खिलाफ धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है इस प्रकरण में हल्की धारा लगाए जाने पर मामला सोशल मीडिया में ट्रोल हो रहा है लोगों का कहना है कि 10 बच्चों की मौत के लिए प्रबंधन भी पूरी तरह जिम्मेदार है इसलिए धारा 302 और 304 के तहत मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए ।

गौरतलब है कि बिगत 6 अगस्त को कंगसाली लंबगांव में स्कूली गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी जिसमे 10 मासूमों की जान चली गई थी और 9 बच्चे घायल हो गए थे जिसमे से अधिकतर का इलाज चल ही रहा है इस बीच दुर्घटना को लेकर परिवहन विभाग सहित शिक्षा विभाग के खिलाफ लोगों में आक्रोश को देखते हुए तुरंत परिवहन विभाग के दो अधिकारियों को निलंबन की कार्यवाही झेलनी पड़ी लेकिन ग्रामीण शिक्षा विभाग की भी जिम्मेदारी तय किये जाने और प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने लगातार जिला प्रशासन पर दवाव बनाये हुए थे,तब जाकर आज आठवें दिन एफआईआर हुई है।
इसी क्रम में गांव के मृतक बच्चों के परिजनों ने कलक्ट्रेट पहुंचकर डीएम डॉ. वी षणमुगम से वार्ता की. और ग्रामीणों ने एंजेल इंटरनेशनल स्कूल की संचालक के खिलाफ कोतवाली में धोखाधड़ी का मुकदमा कराया.पुलिस ने मुकदमा दर्ज तो कर लिया लेकिन लोगों में इस बात को लेकर नाराजगी है कि पुलिस ने हल्की धारा में मुकदमा दर्ज कर खाना पूर्ति की है. ग्रामीणों की नाराजगी शिक्षा विभाग से भी है ग्रामीण सुंदर सिंह ने बताया कि स्कूल बिना मान्यता के आखिर कैसे चल रहा था जिले के शिक्षा महकमे की जिम्मेदारी है कि वह गैर मान्यता के चल रहे स्कूलों को बंद करवाती इसलिए ग्रामीण जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग कर रहे हैं ।
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta.com

यह भी पढ़ें 👉  विशेष खबर: अलमोड़ा निवासी अमेरीकी डिजाइन इंजीनियर का मिशन है हर साल गांव आकर पढ़ाना, और गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद देना,जानिए उनके बारे @हिलवार्ता