Breaking News

Big Breaking : लक्ष्य सेन India Open Badminton 2022 के फाइनल में पहुँचे, विश्व चेम्पियन लोह किन यू से होगा मुकाबला : पूरी खबर @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022 : पर्वतीय क्षेत्रों में कम लोग कर रहे मतदान, 2017 का ट्रेंड जारी रहा तो कई दलों का चुनावी गणित होगा प्रभावित, विशेष रिपोर्ट @हिलवार्ता विधानसभा चुनाव 2022: हलद्वानी में मेयर डॉ जोगेंद्र पाल सिंह रौतेला ही होंगे भाजपा के खेवनहार, सूत्रों से खबर @हिलवार्ता पिथौरागढ़ : 11 माह पहले सेना भर्ती के लिए मेडिकल फिजिकल पास कर चुके युवा लिखित परीक्षा न होने से परेशान, पूर्व सैनिक संगठन से मिले कहा प्लीज हेल्प, खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : विधानसभा चुनाव नामांकन में 15 दिन शेष, समर्थक बेचैन, उम्मीदवारों का पता नहीं, सीमित समय में चुनावी कैम्पेन से असल मुद्दों के गायब होने का अंदेशा,क्यों और कैसे, पढिये@हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

कहते हैं ना काल चक्र है और उसके आगे बड़ों बड़ों को धुटने टेकने पड़ते हैं समय लौटता है और जब अपने लपेटे में जब लेता है वह किसी को भी नहीं बख्शता है यही आज पूर्व गृह मंत्री के साथ भी हुआ कभी उनके मातहत आने वाली सीबीआई आज उन्ही के घर पहुच एक सक्षम वकील राजनेता को हिरासत में ले लेती है.
दरसल मामला आईएनएक्स मीडिया से जुड़ा हुआ है सीबीआई के अनुसार एक निजी कंपनी जो कार्ति चिदंबरम के बेटे के नियंत्रण में थी को इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी के मीडिया हाउस से पैसे का लेनदेन किया गया जिसमें कार्ति ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए एफडीआई क्लीयरेंस में मदद की थी इस मामले में सीबीआई ने 15 मई 2017 को एफआईआर दर्ज की थी इसके बाद ईडी ने मनी लांड्रिंग का केस दायर किया गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सीबीआई अधिकारी मंगलवार को चिदंबरम के दिल्ली स्थित आवास पहुंचे थे लेकिन वहां उनसे मुलाकात नहीं होने पर अधिकारियों ने एक नोटिस चस्पां कर उन्हें दो घंटे में पेश होने का निर्देश दिया.
दो दिन से हाई प्रोफाइल मामले में आज सुप्रीम कोर्ट से आज उनको समय नहीं मिल पाया और सुनवाई के लिए कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई करने का समय देते ही सीबीआई और ईडी के दप्तर में हलचल इस ओर संकेत कर ही रहे थे कि चिदंबरम को कभी भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा सकती है और हुआ भी यही.
कांग्रेस ने चिदंबरम मामले में एकजुटता दिखाई और उनके घर पहुचकर उनके साथ राजनीतिक बदले की भावना से हुई कार्यवाही दिखाने की कोशिश की.प्रेस वार्ता में चिदंबरम ने पक्ष रखा कि पूरे मामले में उनके खिलाफ किसी तरह की एफआईआर नही है लेकिन यह बात सीबीआई के लिए महत्वपूर्ण नहीं थी अधिकारियों ने शाम होते ही चिदंबरम के घर को घेर लिया था जहाँ पूर्व गृह मंत्री के साथ उनकी पैरवी के लिए कांग्रेस के कपिल सिब्बल और अभिषेक मनुसंघवी मौजूद थे.
बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल के सामने कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई की खबरें चली रात 9.45 मिनेट पर आखिरकार चिदंबरम को हिरासत में ले लिया गया है और उनको राममनोहर लोहिया अस्पताल में मेडिकल चेकअप के बाद सीबीआई दप्तर में पूछताछ के लिए ले जाये जाने की खबर है.
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta. com