Breaking News

Big Breaking : गुरुग्राम में हुई सीए की गिरफ्तारी के विरोध में हलद्वानी के चार्टर्ड अकाउंटेंट मुखर,सीबीआइसी को ज्ञापन सौंपा,जीएसटी रिफण्ड का है मामला,पढ़े @हिलवार्ता Uttarakhand : पत्रकारिता के क्षेत्र में दिए जाने वाले उमेश डोभाल पुरस्कारों की घोषणा हुई,शोसल,इलेक्ट्रॉनिक,और प्रिंट मीडिया लिए चयनित हुए चार नाम,खबर @हिलवार्ता Special report : देहरादून के दो युवाओं ने बना दिया एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो देगा अंतरराष्ट्रीय सॉफ्टवेयर को टक्कर ,खबर @हिलवार्ता चंपावत उपचुनाव : पुष्कर सिंह धामी ने चंपावत सीट से अपना पर्चा दाखिल किया, सुबह खटीमा में पूजा अर्चना के बाद पहुचे चंपावत खबर @हिलवार्ता Ramnagar : साहित्य अकादमी पुरस्कार से अलंकृत दुधबोली के रचयिता मथुरा दत्त मठपाल की पहली पुण्यतिथि पर जुटे साहित्यकार, कल होगी दुधबोली पर चर्चा,खबर @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

अभी अभी उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 2022 विधानसभा चुनाव नही लड़ने का एलान किया है । भाजपा अध्यक्ष को लिखे पत्र में हालांकि उन्होंने यह कहा है कि वह धामी सरकार को जिताने के लिए काम करेंगे । त्रिवेंद्र के चुनाव न लड़ने की घोषणा के कई मायने निकाले जा रहे है । आइये पढ़ते हैं क्या है पत्र में ..

यह भी पढ़ें 👉  Big Breaking : गुरुग्राम में हुई सीए की गिरफ्तारी के विरोध में हलद्वानी के चार्टर्ड अकाउंटेंट मुखर,सीबीआइसी को ज्ञापन सौंपा,जीएसटी रिफण्ड का है मामला,पढ़े @हिलवार्ता

 

उन्होंने पत्र में लिखा है कि उन्होंने चार साल पवित्रता के साथ काम किया और कोशिश की कि राज्यवासियों की समभाव सेवा करू । साथ ही यह भी कि पार्टी की अवधारणा पुष्ट हो ऐसे काम किए जाएं । उन्होंने आगे लिखा है कि राज्य में नेतृत्व परिवर्तन हुआ है और युवा नेतृत्व पुष्कर सिंह धामी के रूप में मिला है । बदली राजनीतिक परिस्थितियों में उन्हें लगता है कि 2022 विधानसभा चुनाव नही लड़ना चाहिए । उन्होंएँ यह भी कहा कि अपनी भावनाओं से वह केंद्रीय नेतृत्व को अवगत करा चुके हैं । त्रिवेंद्र अपने बीते कार्यकाल को जिक्र करते हुए लिखते हैं कि उन्होंने झारखण्ड दिल्ली हरियाणा सहित कई प्रदेशों में सेवा का अवसर मिला है लिहाजा उनकी चुनाव न लड़ने की मंशा को मंजूर किया जाए ।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breaking : गुरुग्राम में हुई सीए की गिरफ्तारी के विरोध में हलद्वानी के चार्टर्ड अकाउंटेंट मुखर,सीबीआइसी को ज्ञापन सौंपा,जीएसटी रिफण्ड का है मामला,पढ़े @हिलवार्ता

त्रिवेंद्र ने जिन भी कारणों से चुनाव न लड़ने की घोषणा की हो लेकिन इसके मायने निकलना शुरू हो चुका है । त्रिवेंद्र के करीबी जहां इसे सही समय पर सही चोट के तौर पर देख सकते हैं वहीं विपक्ष इसमें नए समीकरण ढूढने लगा है । बहरहाल इस मामले में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी । लेकिन इतना तय है कि भाजपा के भीतर सब कुछ सामान्य तो नही ही है ।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breaking : गुरुग्राम में हुई सीए की गिरफ्तारी के विरोध में हलद्वानी के चार्टर्ड अकाउंटेंट मुखर,सीबीआइसी को ज्ञापन सौंपा,जीएसटी रिफण्ड का है मामला,पढ़े @हिलवार्ता

हिलवार्ता न्यूज डेस्क 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments