Breaking News

बड़ी खबर : पीएम की रैली कल देहरादून में, राज्य सभा सांसद प्रदीप टम्टा ने कहा अगर उत्तराखंड से वाकई प्रधानमंत्री को है प्यार, विशेष राज्य का दर्जा लौटाएं कल, और भी हैं मांग ,पढिये @हिलवार्ता उत्तराखंड : कोविड के बढ़ते मामलों के बीच टीकाकरण की स्थिति पर एसडीसी की विस्तृत रिपोर्ट पढ़िए @हिलवार्ता उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में शिक्षक कर्मचारी मुख्य गेट बंद करने से भड़के, कहा विश्वविद्यालय है कैद खाना नही, नाराज शिक्षक कर्मचारियों ने की नारेबाजी, खबर@हिलवार्ता उत्तराखंड : सुप्रसिद्ध गायक नरेंद्र सिंह नेगी,अब डॉ नरेंद्र सिंह नेगी, हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय ने डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा, खबर @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

देहरादून : 20 nov 2021 को राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा कोविड 19 की सभी पाबंदियों को हटाने की घोषणा के बाद अस्थाई राजधानी देहरादून में एक साथ 11 मामले आने के बाद कोविड को लेकर एक बार फिर सतर्कता की जरूरत आन पड़ी है ।

इधर 2022 होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारियां जहाँ विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा शुरू की जा चुकी है । वहीं प्रदेश भर में राजनीतिक रैलियों सभाओं का दौर शुरू हो चुका है । कर्मचारी आंदोलन चरम पर हैं बाजारों में  भीड़ जुट रही है । शादी व्याह सहित सामाजिक गतिविधियों में कोविड नियमों को लोगों ने लगभग मानना बन्द कर दिया है । ऐसे में आज नए मामलों ने एक बार फिर चिंता बढ़ा दी है । आज शाम जारी बुलेटिन के मुताबिक राज्य में आज कुल आठ मामले सामने आए हैं ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में शिक्षक कर्मचारी मुख्य गेट बंद करने से भड़के, कहा विश्वविद्यालय है कैद खाना नही, नाराज शिक्षक कर्मचारियों ने की नारेबाजी, खबर@हिलवार्ता

उत्तराखंड में कोविड 19 का पहला मामला फारेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट से ही मिला था संयोगवस राज्य में लॉक डाउन की पाबंदियां हटने के बाद दुबारा बड़ी संख्या में संक्रमित आज फिर एफआरआई में ही मिले हैं । देहरादून नगर निगम क्षेत्र के इंदिरा गांधी नेशनल फारेस्ट अकादमी सहित तिब्बतियन कालोनी के एक हिस्से को कंटेन्मेंट जोन घोषित कर दिया गया है यानी कि 25 नव. 2021 यानी आज से इन क्षेत्रों में पूर्ण लॉक डाउन लगा दिया गया है । स्थानीय प्रशासन ने सभी से अपने घरों में रहने को कहा है ।बताया गया है कि उक्त क्षेत्रो में बेरिकेटिंग भी की जाएगी । कंटेन्मेंट जोन बनाए गए इलाकों में खाद्य विभाग के अधिकारी आवश्यक सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा गया है ।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर : पीएम की रैली कल देहरादून में, राज्य सभा सांसद प्रदीप टम्टा ने कहा अगर उत्तराखंड से वाकई प्रधानमंत्री को है प्यार, विशेष राज्य का दर्जा लौटाएं कल, और भी हैं मांग ,पढिये @हिलवार्ता

आज मिले मामलों के बाद राज्य में सतर्कता की जरूरत है । हालांकि  मामले की गंभीरता को समझते हुए उच्चाधिकारियों ने फौरी कार्यवाही करते हुए क्षेत्रों में पाबंदियां लागू कर दी हैं । जिलाधिकारी देहरादून ने संक्रमण वाले इलाकों को कंटेन्मेंट जोन घोषित करने में देर नही की है । ज्ञात रहे कि उत्तराखंड 15 मार्च 2020 में पहला मामला आया तब एफआईआर में विदेश (स्पेन) से ट्रेनी आईएफस को कोविड 19 संक्रमण की पुष्टि हुई थी राज्य में कुल संक्रमण की संख्या 344156 हो गई है जबकि कुल 7 हजार से अधिक मौतें कोविड 19 की वजह हुई हैं ।

यह भी पढ़ें 👉 

हिलवार्ता न्यूज डेस्क की रिपोर्ट 

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments