Breaking News

उत्तराखंड: विजयादशमी में रावण का पुतला दहन, हल्द्वानी में कोविड 19 के डर के वावजूद हजारों पहुचे रामलीला मैदान,पूरा लाइव देखिये @हिलवार्ता दुख भरी खबर : जम्मू में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद, जम्मू के मेडर में सोमवार से सेना का ऑपरेशन जारी,पूरी खबर@हिलवार्ता हल्द्वानी से बागेश्वर,चंपावत-पिथौरागढ़ जाने वाले यात्री कृपया ध्यान दें,आज से (16 अक्तूबर ) वाया रानीबाग रूट 25 अक्टुबर तक बंद रहेगा,पूरी जानकारी@हिलवार्ता उत्तराखंड : काम की खबर : पंतनगर विश्वविद्यालय और एपीडा में कृषि उत्पादों के उत्पादन, निर्यात के लिए हुआ समझौता,विस्तार से पढ़िए @हिलवार्ता नई शिक्षा नीति 2020 के तहत राज्यों में एक अक्टूबर से शुरू हुआ निष्ठा प्रशिक्षण, यूजीसी द्वारा संचालित टीचर्स ओरिएंटेशन रिफ्रेशर कोर्स की तरह है निष्ठा.आइये समझते हैं @हिलवार्ता
ख़बर शेयर करें -

पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण को एम्स ऋषिकेश भर्ती कराया गया है यहां बालकृष्ण को आईसीयू में रखा गया है एम्स में उनका इलाज चल रहा है पता चला है कि किसी भक्त स्वरूप आदमी ने बालकृष्ण को एक पेड़ा खिलाया जिसके बाद उनको बेहोसी आने लगी.
आनन फानन में पहले पतंजलि के आयुर्वेदिक आचार्यों ने सम्हालने की कोशिश की जब आराम नही आया उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहाँ से उन्हें तुरंत ऋषिकेष एम्स के लिए रेफर कर दिया गया
किसी द्वारा दिये एक पेड़े के सेवन के बाद मामला फ़ूड पायजनिंग से जुड़ा बताया जा रहा है पेड़ा किसी पूर्व कर्मचारी द्वारा खिलाये जाने की बात सामने आ रही है बाबा रामदेव ने एम्स के निदेशक के साथ एक ताजा प्रेस रिलीज जारी की है जिसमे उन्होंने बालकृष्ण को किसी व्यक्ति द्वारा पेड़ा खिलाये जाने की पुष्टि की और कहा कि पेड़ा खाने के तुरंत बाद ही बालकृष्ण बीमार हुए और उनको एम्स भर्ती कराना पड़ा.
वाकया दोपहर का था जिसके बाद सोशल मीडिया सहित सभी फार्मेट पर यह खबर फॉलो होने लगी कि बालकृष्ण को दिल का दौरा पड़ा है व्हाट्सएप और फेसबुक में आयुर्वेदिक आचार्य का अंग्रेजी अस्पताल में भर्ती होने को लेकर लोग सवाल पूछने लगे आखिर हर मर्ज की दवा आयुर्वेद में होने का दावा करने वाले आयुर्वेदाचार्य आखिर एम्स जाना पड़ा.
देखते देखते दिल का दौरा शाम फ़ूड पायजनिंग पर डायवर्ट फिर उसी पर केंद्रित हो गया. बताया जा रहा है कि बालकृष्ण की हालात में अब सुधार हो रहा है उनके जरूरी टेस्ट की रिपोर्ट मिल गई है जिसमे कोई बड़ी अब्नॉर्मलिटी की बात नहीं है यानी बालकृष्ण खतरे से बाहर हैं.
दिन भर अलग अलग खबरे आने के बाद बाबा रामदेव ने जो बात बताई है उसके बाद यह आवश्यक है इसकी जांच की जाय कि यह किसी साजिश के तहत हुआ या अनजाने जहरीला पेड़ा आचार्य को खिलाया दिया गया? अभी तक इस संदर्भ में बाबा ने साफ बात नहीं की है,शायद बालकृष्ण के ठीक होने के बाद पतंजलि के मुखिया द्वारा इस पूरी घटना का खुलासा किया जाए.
हिलवार्ता न्यूज डेस्क
@hillvarta.com